Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jul 2016 · 1 min read

सौगात………. (ईद मुबारक )

सौगात…. (ईद मुबारक )

ईद मनाने गया था यार के दर पे
खाली हाथ…………………………..!
रस्म अदायगी से गले मिले हम दोनों
आंसू छलक गये उसके मिले वर्षो बाद
मैंने भी हाथ फैला दिए ……………!
इबादत में उनकी सौगात समझकर
ले आया अपने साथ ………………..!!
!
!
!
ईद मुबारक
डी, के निवातियाँ _______@@@

Language: Hindi
231 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डी. के. निवातिया
View all
You may also like:
"सेवानिवृत कर्मचारी या व्यक्ति"
Dr Meenu Poonia
ऐ जिंदगी तू कब तक?
ऐ जिंदगी तू कब तक?
Taj Mohammad
साजिशें ही साजिशें...
साजिशें ही साजिशें...
डॉ.सीमा अग्रवाल
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
कुछ यूं मेरा इस दुनिया में,
Lokesh Singh
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
उपहार
उपहार
Satish Srijan
🙏
🙏
Neelam Sharma
पूर्व जन्म के सपने
पूर्व जन्म के सपने
RAKESH RAKESH
2667.*पूर्णिका*
2667.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मृत्यु संबंध की
मृत्यु संबंध की
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ब्रांड. . . .
ब्रांड. . . .
sushil sarna
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
SHAMA PARVEEN
श्री राम आ गए...!
श्री राम आ गए...!
भवेश
■ दिल्ली का फैक्ट*😅😅
■ दिल्ली का फैक्ट*😅😅
*Author प्रणय प्रभात*
*लक्ष्मण (कुंडलिया)*
*लक्ष्मण (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
गुरु मेरा मान अभिमान है
गुरु मेरा मान अभिमान है
Harminder Kaur
आज का दिन
आज का दिन
Punam Pande
*शहर की जिंदगी*
*शहर की जिंदगी*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
फ़लसफ़ा है जिंदगी का मुस्कुराते जाना।
फ़लसफ़ा है जिंदगी का मुस्कुराते जाना।
Manisha Manjari
मां शैलपुत्री
मां शैलपुत्री
Mukesh Kumar Sonkar
💐अज्ञात के प्रति-44💐
💐अज्ञात के प्रति-44💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
अपनी पहचान
अपनी पहचान
Dr fauzia Naseem shad
किस्मत की टुकड़ियाँ रुकीं थीं जिस रस्ते पर
किस्मत की टुकड़ियाँ रुकीं थीं जिस रस्ते पर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
* विदा हुआ है फागुन *
* विदा हुआ है फागुन *
surenderpal vaidya
गौमाता की व्यथा
गौमाता की व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
करी लाडू
करी लाडू
Ranjeet kumar patre
लिख के उंगली से धूल पर कोई - संदीप ठाकुर
लिख के उंगली से धूल पर कोई - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
एक तुम्हारे होने से...!!
एक तुम्हारे होने से...!!
Kanchan Khanna
अपनी पीर बताते क्यों
अपनी पीर बताते क्यों
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...