Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jul 2016 · 1 min read

सौगात………. (ईद मुबारक )

सौगात…. (ईद मुबारक )

ईद मनाने गया था यार के दर पे
खाली हाथ…………………………..!
रस्म अदायगी से गले मिले हम दोनों
आंसू छलक गये उसके मिले वर्षो बाद
मैंने भी हाथ फैला दिए ……………!
इबादत में उनकी सौगात समझकर
ले आया अपने साथ ………………..!!
!
!
!
ईद मुबारक
डी, के निवातियाँ _______@@@

Language: Hindi
Tag: कविता
183 Views
You may also like:
ज़ाफ़रानी
Anoop 'Samar'
बदरवा जल्दी आव ना
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पहाड़ों की रानी
Shailendra Aseem
☘️🍂🌴दे रही है छाँव तुमको जो प्रेम की🌴🍂☘️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गज़ल
Krishna Tripathi
What you are ashamed of
AJAY AMITABH SUMAN
*मेरा विद्यार्थी जीवन*
Ravi Prakash
कर्म-पथ से ना डिगे वह आर्य है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
करना धनवर्षा उस घर
gurudeenverma198
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
पापा
सेजल गोस्वामी
न तुमने कुछ न मैने कुछ कहा है
ananya rai parashar
आफताबे रौशनी मेरे घर आती नहीं।
Taj Mohammad
मेरी पहली शिक्षिका मेरी माँ
Gouri tiwari
देख आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
गुरु वंदना
सोनी सिंह
दस्तूर
Rashmi Sanjay
आखिर किसान हूँ
Dr.S.P. Gautam
अंजाम ए जिंदगी
ओनिका सेतिया 'अनु '
वो एक तुम
Saraswati Bajpai
वन्दना
पं.आशीष अविरल चतुर्वेदी
कब मेरी सुधी लोगे रघुराई
Anamika Singh
सपने जब पलकों से मिलकर नींदें चुराती हैं, मुश्किल ख़्वाबों...
Manisha Manjari
मोर के मुकुट वारो
शेख़ जाफ़र खान
रुक-रुक बरस रहे मतवारे / (सावन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
# तेल लगा के .....
Chinta netam " मन "
बाग़ी फ़नकार
Shekhar Chandra Mitra
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
स्वाधीनता
AMRESH KUMAR VERMA
सौदागर
पीयूष धामी
Loading...