Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2023 · 1 min read

हाइकु

16. हाइकु

1. जिन्दगी की तस्वीर
शीशे का फ्रेम
पत्थर की तकदीर ।
2. मेरा जीवन
डायरी का कोरा पन्ना
बच्चे का टूटा खिलौना ।
3. जाड़े के बाद गर्मी
जैसे तकदीर की
बदनसीबी बेशर्मी ।
4. उनके लिए
मेरे जज़्बात
भूखा दिन प्यासी रात ।
5. महीने की आखरी तारीख
इतिहास दोहराती है
पहली याद आती है ।
6. सफलता और शोहरत
एक साथ
आधी रात ।
7. सीढ़ियाँ सफलता की
दिखती ऊपर को
आती नीचे को ।
8. दाल रोटी
हवा पानी
जिन्दगानी ।
9. अच्छा बुरा समय
सुख चैन काम
आराम हराम ।
10. कली फूल खाद पानी
शादी बारात
विधवा जवानी ।
11. धूल हवा आक्सीजन
सज्जन दुर्जन
मृत्यु जीवन ।
12. रात फूल बिस्तर
प्यार मोहब्बत
शादी तलाक ।
13. जीवन मृत्यु
अनन्त से धरती
धरती से अनन्त ।
14. हाथी पर अंकुश
शक्ति पर बुद्धि
मानवता अंधी ।
15. ठंडी हवा का झोंका
फिर दिखाता है
उम्मीद का झरोखा ।
********
प्रकाश चंद्र , लखनऊ
IRPS (Retd)

Language: Hindi
1 Like · 133 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Prakash Chandra
View all
You may also like:
जलती बाती प्रेम की,
जलती बाती प्रेम की,
sushil sarna
मन चाहे कुछ कहना....!
मन चाहे कुछ कहना....!
Kanchan Khanna
लोग बंदर
लोग बंदर
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
खूब रोता मन
खूब रोता मन
Dr. Sunita Singh
चंदा मामा सुनो ना मेरी बात 🙏
चंदा मामा सुनो ना मेरी बात 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
खल साहित्यिकों का छलवृत्तांत / MUSAFIR BAITHA
खल साहित्यिकों का छलवृत्तांत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
जीवन को अतीत से समझना चाहिए , लेकिन भविष्य को जीना चाहिए ❤️
जीवन को अतीत से समझना चाहिए , लेकिन भविष्य को जीना चाहिए ❤️
Rohit yadav
*चैतन्य एक आंतरिक ऊर्जा*
*चैतन्य एक आंतरिक ऊर्जा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
🙅क्षणिका🙅
🙅क्षणिका🙅
*Author प्रणय प्रभात*
महंगाई के इस दौर में भी
महंगाई के इस दौर में भी
Kailash singh
*** होली को होली रहने दो ***
*** होली को होली रहने दो ***
Chunnu Lal Gupta
मेरे अल्फाज याद रखना
मेरे अल्फाज याद रखना
VINOD CHAUHAN
अर्चना की कुंडलियां भाग 2
अर्चना की कुंडलियां भाग 2
Dr Archana Gupta
किसी को अपने संघर्ष की दास्तान नहीं
किसी को अपने संघर्ष की दास्तान नहीं
Jay Dewangan
बस इतनी सी अभिलाषा मेरी
बस इतनी सी अभिलाषा मेरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रमेशराज के त्योहार एवं अवसरविशेष के बालगीत
रमेशराज के त्योहार एवं अवसरविशेष के बालगीत
कवि रमेशराज
चाय
चाय
Dr. Seema Varma
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
Phool gufran
प्रेम भाव रक्षित रखो,कोई भी हो तव धर्म।
प्रेम भाव रक्षित रखो,कोई भी हो तव धर्म।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
बिषय सदाचार
बिषय सदाचार
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"याद"
Dr. Kishan tandon kranti
दोहे-
दोहे-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मैं
मैं "लूनी" नही जो "रवि" का ताप न सह पाऊं
ruby kumari
यातायात के नियमों का पालन हम करें
यातायात के नियमों का पालन हम करें
gurudeenverma198
सामाजिक क्रांति
सामाजिक क्रांति
Shekhar Chandra Mitra
मच्छर
मच्छर
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
3172.*पूर्णिका*
3172.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सृजन
सृजन
Bodhisatva kastooriya
* मन बसेगा नहीं *
* मन बसेगा नहीं *
surenderpal vaidya
*साँसों ने तड़फना कब छोड़ा*
*साँसों ने तड़फना कब छोड़ा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...