Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Dec 2023 · 1 min read

सूनी बगिया हुई विरान ?

सूनी बगिया
🍀☘️🌷🌹
नव किसलय का आनन
सुगंधित नव पुष्प आलय

बगिया है पुरखों की याद
सींचा कलियाँ विकसित

खिल सरस सुगंध बिखराने
पंखुड़ियां खुली समय पर

विकसित पुष्प मधुर मधु
भ्रमर ले भ्रमण कर जग में

प्रेम सद्भाव बरसाने वाली
बिन माली सूनी है वगिया

मुरझा गया आदार सत्कार
फुलवारी पूल इत्र सी निज

खुशबु पहचान भू बनाया
गीता ज्ञान कर्म की पूजा

आदर्श वाक्य सूनी बगिया
गूंज महशूस पास गुजर रहे

पथिक स्मृतियों की यादों में
भाव भ्रमित नमन करते हैं

माली मालिन मालकियत
छोड़ कालगति समा गए

बसा नहीं सुमन इस कुंज
गली बदल कहीं और बसे

सूनी कुंज विकसित डाली
सूख जलहीन मुरझा गए

नव यौवन की कलियाँ
वृथा गुमान गर्व दम्भ से

फूलता फूल झरझरा गए
बगिया सूनी विरान पड़ी।
☘️🍀🙏🙏🌷🌹
तारकेश्‍वर प्रसाद तरूण

Language: Hindi
66 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
View all
You may also like:
कोरोना काल मौत का द्वार
कोरोना काल मौत का द्वार
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
■ भविष्यवाणी...
■ भविष्यवाणी...
*Author प्रणय प्रभात*
नीति अनैतिकता को देखा तो,
नीति अनैतिकता को देखा तो,
Er.Navaneet R Shandily
रमेशराज की तीन ग़ज़लें
रमेशराज की तीन ग़ज़लें
कवि रमेशराज
फितरत
फितरत
पूनम झा 'प्रथमा'
हमारे प्यार का आलम,
हमारे प्यार का आलम,
Satish Srijan
हवा चली है ज़ोर-ज़ोर से
हवा चली है ज़ोर-ज़ोर से
Vedha Singh
इंद्रधनुष
इंद्रधनुष
Harish Chandra Pande
गाँधी जी की अंगूठी (काव्य)
गाँधी जी की अंगूठी (काव्य)
Ravi Prakash
अनसुलझे किस्से
अनसुलझे किस्से
Mahender Singh
जहां से चले थे वहीं आ गए !
जहां से चले थे वहीं आ गए !
Kuldeep mishra (KD)
"अहसास"
Dr. Kishan tandon kranti
रामफल मंडल (शहीद)
रामफल मंडल (शहीद)
Shashi Dhar Kumar
I want to find you in my depth,
I want to find you in my depth,
Sakshi Tripathi
"सत्य"
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं
वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं
gurudeenverma198
💐Prodigy Love-1💐
💐Prodigy Love-1💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
उधार  ...
उधार ...
sushil sarna
मैंने खुद को जाना, सुना, समझा बहुत है
मैंने खुद को जाना, सुना, समझा बहुत है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
नारायणी
नारायणी
Dhriti Mishra
घृणा आंदोलन बन सकती है, तो प्रेम क्यों नहीं?
घृणा आंदोलन बन सकती है, तो प्रेम क्यों नहीं?
Dr MusafiR BaithA
हमनें ख़ामोश
हमनें ख़ामोश
Dr fauzia Naseem shad
मुफ्तखोरी
मुफ्तखोरी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Heart Wishes For The Wave.
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
तू ज़रा धीरे आना
तू ज़रा धीरे आना
मनोज कुमार
मार्मिक फोटो
मार्मिक फोटो
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तसव्वुर
तसव्वुर
Shyam Sundar Subramanian
2443.पूर्णिका
2443.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Loading...