Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !!

बहुत दिना भा खाए होइगा बहुरी लाटा तेली !
अजुअव देख कहा हम बिसरन घुघुरी गुड़ के भेली !!

बचपन के दिन कभौ ना लउटी घर अई कइके दंगा !
बहरा अउर नदी मा कूदी होई होई हम सब नंगा !!

रोज़ एकठे जघिआ फाटय छाला पड़य हथेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !

सुधि आबाथी अम्मा हमही सार बुसउला सथरी !
जाऊँ सुंदर हम ओढ़ी के सोई धोती बाली कथरी !!

साथ मा रोटी अउर कनेमन जब हाथे मा देते !
लाला हीरा मुन्ना कहिके झट से गोद मा लेते !!

बिछुड़ गए सब साथी आपन अब केके संग खेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !

जब खेली हम गोली गिट्टा लेहे डड़उका मरते !
चोट लगय जब हाथ पाव मा ज़ख्म तहिन ता भरते !!

तोता कस रोज़ बिहन्ने रटते पढ़ ले दादू भइया !
उरिन नहीं हम तोसे कबहूं सुनि ले मोरे मइया !!

देख देख जिउ कुहुक उठत है कब बनी मोर हवेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !

कहे रहन ना अम्मा तोसे तोरव एकदिन लउटीं !
हाथ के तोरे चूल्हा बरतन खोबा दूसर अउटी !!

गाड़ी घोड़ा बगली बँगला नौकर चाकर होई !
दुसरे घरके बनके बिटिया धोती ओन्ना धोई !!

हाथ पाव मा तेल लगाईं दुलहिन नई नवेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !!

मौलिक Kavi Ashish Tiwari Jugnoo
08871887126 / 09200573071…

Language: Hindi
Tag: कविता
602 Views
You may also like:
त्याग
श्री रमण 'श्रीपद्'
ग़ज़ल- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
" सूरजमल "
Dr Meenu Poonia
क्षमा
Saraswati Bajpai
जो अपने अज़्म की
Dr fauzia Naseem shad
not a cup of my tea
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राम भरोसे (हास्य व्यंग कविता )
ओनिका सेतिया 'अनु '
संघर्ष
पंकज कुमार कर्ण
देश के गद्दार
Shekhar Chandra Mitra
“ कोरोना ”
DESH RAJ
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
मैंने मना कर दिया
विनोद सिल्ला
Feel it and see that
Taj Mohammad
*सर्वोत्तम शाकाहार है (गीत)*
Ravi Prakash
दर्द के रिश्ते
Vikas Sharma'Shivaaya'
ये चिड़िया
Anamika Singh
हम तुमसे जब मिल नहीं पाते
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ज़माना कहता है हर बात ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
पिता
लक्ष्मी सिंह
🍀🌺मैंने हर जगह ज़िक्र किया है तुम्हारा🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नए-नए हैं गाँधी / (श्रद्धांजलि नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बस रह जाएंगे ये जख्मों के निशां...
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन
Ram Krishan Rastogi
आइसक्रीम लुभाए
Buddha Prakash
✍️✍️मौत✍️✍️
'अशांत' शेखर
कृष्ण मुरारी
Rekha Drolia
बढ़ते जाना है
surenderpal vaidya
मैं ही बेगूसराय
Varun Singh Gautam
सौगंध
Shriyansh Gupta
Loading...