Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !!

बहुत दिना भा खाए होइगा बहुरी लाटा तेली !
अजुअव देख कहा हम बिसरन घुघुरी गुड़ के भेली !!

बचपन के दिन कभौ ना लउटी घर अई कइके दंगा !
बहरा अउर नदी मा कूदी होई होई हम सब नंगा !!

रोज़ एकठे जघिआ फाटय छाला पड़य हथेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !

सुधि आबाथी अम्मा हमही सार बुसउला सथरी !
जाऊँ सुंदर हम ओढ़ी के सोई धोती बाली कथरी !!

साथ मा रोटी अउर कनेमन जब हाथे मा देते !
लाला हीरा मुन्ना कहिके झट से गोद मा लेते !!

बिछुड़ गए सब साथी आपन अब केके संग खेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !

जब खेली हम गोली गिट्टा लेहे डड़उका मरते !
चोट लगय जब हाथ पाव मा ज़ख्म तहिन ता भरते !!

तोता कस रोज़ बिहन्ने रटते पढ़ ले दादू भइया !
उरिन नहीं हम तोसे कबहूं सुनि ले मोरे मइया !!

देख देख जिउ कुहुक उठत है कब बनी मोर हवेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !

कहे रहन ना अम्मा तोसे तोरव एकदिन लउटीं !
हाथ के तोरे चूल्हा बरतन खोबा दूसर अउटी !!

गाड़ी घोड़ा बगली बँगला नौकर चाकर होई !
दुसरे घरके बनके बिटिया धोती ओन्ना धोई !!

हाथ पाव मा तेल लगाईं दुलहिन नई नवेली !
सुनि ले अम्मा कासे बोली आपन शुद्ध बघेली !!

मौलिक Kavi Ashish Tiwari Jugnoo
08871887126 / 09200573071…

Language: Hindi
760 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बदलते मौसम
बदलते मौसम
Dr Archana Gupta
"हस्ताक्षर"
Dr. Kishan tandon kranti
Adhere kone ko roshan karke
Adhere kone ko roshan karke
Sakshi Tripathi
लल्लेश्वरी कश्मीरी संत कवयित्री - एक परिचय
लल्लेश्वरी कश्मीरी संत कवयित्री - एक परिचय
Shyam Sundar Subramanian
जनता के आवाज
जनता के आवाज
Shekhar Chandra Mitra
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
Jitendra Chhonkar
■ स्वाभाविक बात...
■ स्वाभाविक बात...
*Author प्रणय प्रभात*
इस्लामिक देश को छोड़ दिया जाए तो लगभग सभी देश के विश्वविद्या
इस्लामिक देश को छोड़ दिया जाए तो लगभग सभी देश के विश्वविद्या
Rj Anand Prajapati
The Journey of this heartbeat.
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
क़दर करके क़दर हासिल हुआ करती ज़माने में
क़दर करके क़दर हासिल हुआ करती ज़माने में
आर.एस. 'प्रीतम'
सौ रोग भले देह के, हों लाख कष्टपूर्ण
सौ रोग भले देह के, हों लाख कष्टपूर्ण
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मतदान
मतदान
साहिल
क्या यही है हिन्दी-ग़ज़ल? *रमेशराज
क्या यही है हिन्दी-ग़ज़ल? *रमेशराज
कवि रमेशराज
कोशिश
कोशिश
Dr fauzia Naseem shad
"गणतंत्र दिवस"
पंकज कुमार कर्ण
तुलनात्मक अध्ययन एक अपराध-बोध
तुलनात्मक अध्ययन एक अपराध-बोध
Mahender Singh Manu
जय जय जय जय बुद्ध महान ।
जय जय जय जय बुद्ध महान ।
Buddha Prakash
मगरूर क्यों हैं
मगरूर क्यों हैं
Mamta Rani
सफर साथ में कटता।
सफर साथ में कटता।
Taj Mohammad
* सुहाती धूप *
* सुहाती धूप *
surenderpal vaidya
यह कैसा है धर्म युद्ध है केशव
यह कैसा है धर्म युद्ध है केशव
VINOD CHAUHAN
जिंदगी का चमत्कार,जिंदगी भर किया इंतजार,
जिंदगी का चमत्कार,जिंदगी भर किया इंतजार,
पूर्वार्थ
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
कृष्णकांत गुर्जर
*मनु-शतरूपा ने वर पाया (चौपाइयॉं)*
*मनु-शतरूपा ने वर पाया (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
प्यार का रिश्ता
प्यार का रिश्ता
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ईश्वर का
ईश्वर का "ह्यूमर" रचना शमशान वैराग्य -  Fractional Detachment  
Atul "Krishn"
आजादी की शाम ना होने देंगे
आजादी की शाम ना होने देंगे
Ram Krishan Rastogi
युवा दिवस विवेकानंद जयंती
युवा दिवस विवेकानंद जयंती
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
लेखनी चले कलमकार की
लेखनी चले कलमकार की
Harminder Kaur
*.....उन्मुक्त जीवन......
*.....उन्मुक्त जीवन......
Naushaba Suriya
Loading...