Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Nov 2023 · 1 min read

*सुनकर खबर आँखों से आँसू बह रहे*

सुनकर खबर आँखों से आँसू बह रहे
******************************

सुन कर खबर आँखों से आँसू बह रहे,
टूटा सबर आँखों से आँसू बह रहे।

आहें निकलती रहती दिल से हर पहर,
छाया सहर आँखों से आँसू बह रहे।

वो तोड़ कर वादे सारे यूँ चल दिये,
उन के मगर आँखों से आँसू बह रहे।

आफत मची कैसी है मन में रात-दिन,
बिछड़ी डगर आँखों से आँसू बह रहे।

जाने लगी जां तन से नाहक सी कहीं,
उठती लहर आँखों से आँसू बह रहे।

टूटी लड़ी नजरों की जब से एकता,
निगला जहर आँखों से आँसू बह रहे।

मन चाहता मनसीरत मरते दम तलक,
छूटा शहर आँखों से आँसू बह रहे।
*****************************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेडी राओ वाली (कैथल)

1 Like · 165 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कहाँ से लाऊँ वो उम्र गुजरी हुई
कहाँ से लाऊँ वो उम्र गुजरी हुई
डॉ. दीपक मेवाती
मोबाइल
मोबाइल
Punam Pande
कानून?
कानून?
nagarsumit326
किसी के अंतर्मन की वो आग बुझाने निकला है
किसी के अंतर्मन की वो आग बुझाने निकला है
कवि दीपक बवेजा
Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Sakshi Tripathi
जिसका मिज़ाज़ सच में, हर एक से जुदा है,
जिसका मिज़ाज़ सच में, हर एक से जुदा है,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
प्यार का रिश्ता
प्यार का रिश्ता
Surinder blackpen
2566.पूर्णिका
2566.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
कुंडलिया छंद विधान ( कुंडलिया छंद में ही )
कुंडलिया छंद विधान ( कुंडलिया छंद में ही )
Subhash Singhai
"मैं-मैं का शोर"
Dr. Kishan tandon kranti
" धरती का क्रोध "
Saransh Singh 'Priyam'
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"डोली बेटी की"
Ekta chitrangini
Irritable Bowel Syndrome
Irritable Bowel Syndrome
Tushar Jagawat
ସେହି ଫୁଲ ଠାରୁ ଅଧିକ
ସେହି ଫୁଲ ଠାରୁ ଅଧିକ
Otteri Selvakumar
कविता
कविता
Rambali Mishra
💐प्रेम कौतुक-255💐
💐प्रेम कौतुक-255💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नई शिक्षा
नई शिक्षा
अंजनीत निज्जर
मेरे दिल के मन मंदिर में , आओ साईं बस जाओ मेरे साईं
मेरे दिल के मन मंदिर में , आओ साईं बस जाओ मेरे साईं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बीती सदियाँ राम हैं , भारत के उपमान(कुंडलिया)
बीती सदियाँ राम हैं , भारत के उपमान(कुंडलिया)
Ravi Prakash
इस जीवन के मधुर क्षणों का
इस जीवन के मधुर क्षणों का
Shweta Soni
प्रकृति पर कविता
प्रकृति पर कविता
कवि अनिल कुमार पँचोली
सुख की तलाश आंख- मिचौली का खेल है जब तुम उसे खोजते हो ,तो वह
सुख की तलाश आंख- मिचौली का खेल है जब तुम उसे खोजते हो ,तो वह
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
उठो पथिक थक कर हार ना मानो
उठो पथिक थक कर हार ना मानो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
ज़िंदगी भी समझ में
ज़िंदगी भी समझ में
Dr fauzia Naseem shad
आप अपने मन को नियंत्रित करना सीख जाइए,
आप अपने मन को नियंत्रित करना सीख जाइए,
Mukul Koushik
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
शेखर सिंह
नारी जीवन की धारा
नारी जीवन की धारा
Buddha Prakash
सितारे अपने आजकल गर्दिश में चल रहे है
सितारे अपने आजकल गर्दिश में चल रहे है
shabina. Naaz
"चोट्टे की दाढ़ी में झाड़ू की सींक
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...