Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 May 2023 · 1 min read

सिर की सफेदी

सिर की सफ़ेदी

अपने सफ़ेद बालों को काला क्यों नहीं करते,
शरीर के रख रखाव का ध्यान क्यों नहीं रखते।

कहा मान कर देखो व्यक्तित्व निखर जाएगा,
अपने आप में गुलफ़ाम सा अहसास कराएगा।

काला करके देखो बालों को कैसी चमक आएगी,
चेहरे की रौनक़ बढ़ेगी और उम्र दस वर्ष घट जाएगी।

हमने तो उनके भले के लिए ही कही थी,
जवाब पलट कर जो आया अपेक्षा नहीं थी।

सफ़ेदी मुश्किल से आयी है वर्षों की घिसाई से,
उसको यूँ ही ख़त्म कर दूँ इस काली डाई से।

इस काले रंग को तो घिस घिस कर उतारा है,
और सफ़ेदी के नीचे अनेकों अनुभवों का पिटारा है।

यह तो अनुभवों और मेहनतों की सफ़ेदी है,
पाने को रुकावटों की ऊँची ऊँची दीवारें भेदी हैं।

उम्र खर्च कर दी जिस सफ़ेद रंग को पाने में,
कोई रुचि नहीं उसको काले रंग से हटाने में।

काले को घिसते घिसते उम्र गुजर गई,
इतने जतन कि चेहरे पर झूरियाँ उतर गई।

ये अनायास ही धूप में सफ़ेद नहीं हुए हैं,
इनके नीचे अनुभवों के सागर और कुएँ हैं।

जिसको हमने जतन से घिस घिस के उतारा है,
पता नहीं जमाने को वो काला रंग ही क्यों प्यारा है?

248 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Khajan Singh Nain
View all
You may also like:
* रेत समंदर के...! *
* रेत समंदर के...! *
VEDANTA PATEL
भय, भाग्य और भरोसा (राहुल सांकृत्यायन के संग) / MUSAFIR BAITHA
भय, भाग्य और भरोसा (राहुल सांकृत्यायन के संग) / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
🙏 🌹गुरु चरणों की धूल🌹 🙏
🙏 🌹गुरु चरणों की धूल🌹 🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ए दिल मत घबरा
ए दिल मत घबरा
Harminder Kaur
तू ही मेरी लाड़ली
तू ही मेरी लाड़ली
gurudeenverma198
वतन की राह में, मिटने की हसरत पाले बैठा हूँ
वतन की राह में, मिटने की हसरत पाले बैठा हूँ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
विश्व कप-2023 का सबसे लंबा छक्का किसने मारा?
विश्व कप-2023 का सबसे लंबा छक्का किसने मारा?
World Cup-2023 Top story (विश्वकप-2023, भारत)
18- ऐ भारत में रहने वालों
18- ऐ भारत में रहने वालों
Ajay Kumar Vimal
कृपया सावधान रहें !
कृपया सावधान रहें !
Anand Kumar
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*Author प्रणय प्रभात*
यूँही तुम पर नहीं हम मर मिटे हैं
यूँही तुम पर नहीं हम मर मिटे हैं
Simmy Hasan
सावन
सावन
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
प्यार जताने के सभी,
प्यार जताने के सभी,
sushil sarna
हाइकु
हाइकु
अशोक कुमार ढोरिया
फिरकापरस्ती
फिरकापरस्ती
Shekhar Chandra Mitra
*गीत*
*गीत*
Poonam gupta
हमारे जीवन की सभी समस्याओं की वजह सिर्फ दो शब्द है:—
हमारे जीवन की सभी समस्याओं की वजह सिर्फ दो शब्द है:—
पूर्वार्थ
"चढ़ती उमर"
Dr. Kishan tandon kranti
एक अबोध बालक
एक अबोध बालक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तथागत प्रीत तुम्हारी है
तथागत प्रीत तुम्हारी है
Buddha Prakash
छोटा परिवार( घनाक्षरी )
छोटा परिवार( घनाक्षरी )
Ravi Prakash
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Dr Archana Gupta
फूल और कांटे
फूल और कांटे
अखिलेश 'अखिल'
अनंत की ओर _ 1 of 25
अनंत की ओर _ 1 of 25
Kshma Urmila
ज्यों ही धरती हो जाती है माता
ज्यों ही धरती हो जाती है माता
ruby kumari
ताजन हजार
ताजन हजार
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
दोहे-*
दोहे-*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
2507.पूर्णिका
2507.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
शिवोहं
शिवोहं
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एक विद्यार्थी जब एक लड़की के तरफ आकर्षित हो जाता है बजाय कित
एक विद्यार्थी जब एक लड़की के तरफ आकर्षित हो जाता है बजाय कित
Rj Anand Prajapati
Loading...