Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jul 2023 · 1 min read

सावन

पावन मंच को नमन
विधा -दोहा छंद
विषय-सावन

घिर-घिर सावन की घटा, बरसत करती शोर।
झूम- झूम के बावरी, करती तम अति घोर।।

चम- चम चमके दामिनी, घटता तम घनघोर।
सावन की इस मास में ,नाचे वन में मोर।।

रिमझिम बरसे बादली ,छम- छम गावे राग।
सावन की रुत पावनी ,जागे धरती भाग।।

रुक-रुक राका रोशनी, छुपती बदली ओट।
विरहन को बरसात में, लगे हृदय में चोट।।

सावन की फुहार में ,गाते मेघ मल्हार।
विपिन मयूरा नाचते,-नाचे सब नर, नार।।

नाच -नाच झूला झुले, नाचत भीगे देह।
अंग संग सखियां रहे ,रिमझिम बरसे मेह।।

ललिता कश्यप जिला बिलासपुर हिमाचल प्रदेश

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 110 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*
*"अवध के राम आये हैं"*
Shashi kala vyas
नारी का सम्मान 🙏
नारी का सम्मान 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
पैमाना सत्य का होता है यारों
पैमाना सत्य का होता है यारों
प्रेमदास वसु सुरेखा
रक्षा -बंधन
रक्षा -बंधन
Swami Ganganiya
छोड़ कर महोब्बत कहा जाओगे
छोड़ कर महोब्बत कहा जाओगे
Anil chobisa
संसाधन का दोहन
संसाधन का दोहन
Buddha Prakash
2932.*पूर्णिका*
2932.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वक्त
वक्त
लक्ष्मी सिंह
रेत घड़ी / मुसाफ़िर बैठा
रेत घड़ी / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
स्वागत है इस नूतन का यह वर्ष सदा सुखदायक हो।
स्वागत है इस नूतन का यह वर्ष सदा सुखदायक हो।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
हे कृतघ्न मानव!
हे कृतघ्न मानव!
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Sishe ke makan ko , ghar banane ham chale ,
Sishe ke makan ko , ghar banane ham chale ,
Sakshi Tripathi
*कागभुशुंडी जी नमन, काग-रूप विद्वान (कुछ दोहे)*
*कागभुशुंडी जी नमन, काग-रूप विद्वान (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
जो रास्ते हमें चलना सीखाते हैं.....
जो रास्ते हमें चलना सीखाते हैं.....
कवि दीपक बवेजा
जन्म-जन्म का साथ.....
जन्म-जन्म का साथ.....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कभी मिले नहीं है एक ही मंजिल पर जानें वाले रास्तें
कभी मिले नहीं है एक ही मंजिल पर जानें वाले रास्तें
Sonu sugandh
फिर एक बार 💓
फिर एक बार 💓
Pallavi Rani
🙅दोहा🙅
🙅दोहा🙅
*Author प्रणय प्रभात*
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
!! पलकें भीगो रहा हूँ !!
!! पलकें भीगो रहा हूँ !!
Chunnu Lal Gupta
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ajeeb hai ye duniya.......pahle to karona se l ladh rah
Ajeeb hai ye duniya.......pahle to karona se l ladh rah
shabina. Naaz
" वर्ष 2023 ,बालीवुड के लिए सफ़लता की नयी इबारत लिखेगा "
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
पिता का गीत
पिता का गीत
Suryakant Dwivedi
जिंदगी है एक सफर,,
जिंदगी है एक सफर,,
Taj Mohammad
अंतस के उद्वेग हैं ,
अंतस के उद्वेग हैं ,
sushil sarna
दोस्ती का रिश्ता
दोस्ती का रिश्ता
विजय कुमार अग्रवाल
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
Monika Verma
प्रेम और दोस्ती में अंतर न समझाया जाए....
प्रेम और दोस्ती में अंतर न समझाया जाए....
Keshav kishor Kumar
खुदा ने तुम्हारी तकदीर बड़ी खूबसूरती से लिखी है,
खुदा ने तुम्हारी तकदीर बड़ी खूबसूरती से लिखी है,
Sukoon
Loading...