Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Feb 2023 · 1 min read

सलाम भी क़ुबूल है पयाम भी क़ुबूल है

ग़ज़ल
सलाम भी क़ुबूल है पयाम¹ भी क़ुबूल है
नवाज़िशें² क़ुबूल इंतक़ाम³ भी क़ुबूल है

जो ग़म दिये हैं ज़िंदगी ने दी ख़ुशी भी तो बहुत
सहर⁴ क़ुबूल है मुझे तो शाम भी क़ुबूल है

भटकते दर-ब-दर तुम्हारे मयकदे⁵ में आ गए
सुकून की तलाश थी ये जाम भी क़ुबूल है

किया है मैंने फ़ैसला बिकूँगा मैं तेरे लिए
लगेगा जो भी मोल अब वो दाम भी क़ुबूल है

जो प्यार से पुकार कर ‘अनीस’ तुमने कह दिया
ख़िताब⁶ है मेरे लिए ये नाम भी क़ुबूल है
-अनीस शाह ‘अनीस ‘
1.संदेश 2.मेहरबानी 3.बदला 4.सबेरा 5.मदिरालय 6.उपाधि

Language: Hindi
1 Like · 169 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🙅आज का टोटका🙅
🙅आज का टोटका🙅
*प्रणय प्रभात*
रात ॲंधेरी सावन बरसे नहीं परत है चैन।
रात ॲंधेरी सावन बरसे नहीं परत है चैन।
सत्य कुमार प्रेमी
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
खुद से जंग जीतना है ।
खुद से जंग जीतना है ।
Ashwini sharma
"अमीर"
Dr. Kishan tandon kranti
बाल कविता: मुन्नी की मटकी
बाल कविता: मुन्नी की मटकी
Rajesh Kumar Arjun
*अध्याय 11*
*अध्याय 11*
Ravi Prakash
स्त्री मन
स्त्री मन
Vibha Jain
वक्त यदि गुजर जाए तो 🧭
वक्त यदि गुजर जाए तो 🧭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
#संवाद (#नेपाली_लघुकथा)
#संवाद (#नेपाली_लघुकथा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
ऐ ख़ुदा इस साल कुछ नया कर दें
ऐ ख़ुदा इस साल कुछ नया कर दें
Keshav kishor Kumar
कहां ज़िंदगी का
कहां ज़िंदगी का
Dr fauzia Naseem shad
वर्तमान परिस्थिति - एक चिंतन
वर्तमान परिस्थिति - एक चिंतन
Shyam Sundar Subramanian
**प्यार भरा पैगाम लिखूँ मैं **
**प्यार भरा पैगाम लिखूँ मैं **
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
भाग्य प्रबल हो जायेगा
भाग्य प्रबल हो जायेगा
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
किसे फर्क पड़ता है
किसे फर्क पड़ता है
Sangeeta Beniwal
दिव्य दृष्टि बाधित
दिव्य दृष्टि बाधित
Neeraj Agarwal
প্রতিদিন আমরা নতুন কিছু না কিছু শিখি
প্রতিদিন আমরা নতুন কিছু না কিছু শিখি
Arghyadeep Chakraborty
बस चार ही है कंधे
बस चार ही है कंधे
Rituraj shivem verma
ओस
ओस
पूनम कुमारी (आगाज ए दिल)
मित्र दिवस पर आपको, सादर मेरा प्रणाम 🙏
मित्र दिवस पर आपको, सादर मेरा प्रणाम 🙏
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जिस दिन हम ज़मी पर आये ये आसमाँ भी खूब रोया था,
जिस दिन हम ज़मी पर आये ये आसमाँ भी खूब रोया था,
Ranjeet kumar patre
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
2379.पूर्णिका
2379.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*बदलना और मिटना*
*बदलना और मिटना*
Sûrëkhâ
है जो बात अच्छी, वो सब ने ही मानी
है जो बात अच्छी, वो सब ने ही मानी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ख़यालों के परिंदे
ख़यालों के परिंदे
Anis Shah
सीता ढूँढे राम को,
सीता ढूँढे राम को,
sushil sarna
पत्नी की खोज
पत्नी की खोज
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
Loading...