Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Feb 2017 · 1 min read

((( सबसे बढ़कर रोटी )))

सबसे बढ़कर रोटी
# दिनेश एल० “जैहिंद”

रोटी, कपड़ा चाहिए मकान
जीवन के लिए तीन सामान
रोटी के बिना सब निष्प्रान
सबसे बढ़के रोटी प्रधान

बालक, युवा कोई भी जवान
ना कोई रोटी से है अनजान
रोटी ईश्वर का है वरदान
भूखे के लिए है ये भगवान

कोई रोटी के लिए तरसता
भूखा बेचारा कहीं है मरता
कोई खा – खाके तोंद फुलाए
कोई बैठा देखो मुँह लटकाए

कौन है ऐसा जो नहीं दौड़ता
रोटी के पीछे जो नहीं भागता
दिन कटता रोटी के चक्कर में
खून बहाता श्रम के टक्कर में

खुद तो गोल और पतली रोटी
गोल घूमाती दुनिया को रोटी
कहीं इसके लिए मुनिया रोती
कहीं रोज लड़ाई इसपर होती

रोटी, रोटी है ये कितनी छोटी
तृप्त करती भूख कोटि – कोटि
नमन् तुझे है शत्-शत् हे रोटी
ना रखना भूखा कभी हे रोटी

°°°°°

Language: Hindi
213 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐Prodigy Love-21💐
💐Prodigy Love-21💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
Sanjay ' शून्य'
ताजन हजार
ताजन हजार
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
सत्याग्रह और उग्रता
सत्याग्रह और उग्रता
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
*दया*
*दया*
Dushyant Kumar
दिल ए तकलीफ़
दिल ए तकलीफ़
Dr fauzia Naseem shad
आफ़ताब
आफ़ताब
Atul "Krishn"
नारी
नारी
Dr Parveen Thakur
🚩 वैराग्य
🚩 वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*देकर ज्ञान गुरुजी हमको जीवन में तुम तार दो*
*देकर ज्ञान गुरुजी हमको जीवन में तुम तार दो*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
उद्दंडता और उच्छृंखलता
उद्दंडता और उच्छृंखलता
*Author प्रणय प्रभात*
स्त्री चेतन
स्त्री चेतन
Astuti Kumari
उपदेश से तृप्त किया ।
उपदेश से तृप्त किया ।
Buddha Prakash
राष्ट्रीय गणित दिवस
राष्ट्रीय गणित दिवस
Tushar Jagawat
Consistency does not guarantee you you will be successful
Consistency does not guarantee you you will be successful
पूर्वार्थ
राजस्थानी भाषा में
राजस्थानी भाषा में
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
अनकही दोस्ती
अनकही दोस्ती
राजेश बन्छोर
तुम क्या हो .....
तुम क्या हो ....." एक राजा "
Rohit yadav
जो मौका रहनुमाई का मिला है
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
'अ' अनार से
'अ' अनार से
Dr. Kishan tandon kranti
तुम
तुम
Sangeeta Beniwal
सुविचार
सुविचार
Dr MusafiR BaithA
तूं मुझे एक वक्त बता दें....
तूं मुझे एक वक्त बता दें....
Keshav kishor Kumar
*श्रम से पीछे कब रही, नारी महिमावान (कुंडलिया)*
*श्रम से पीछे कब रही, नारी महिमावान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
इन तूफानों का डर हमको कुछ भी नहीं
इन तूफानों का डर हमको कुछ भी नहीं
gurudeenverma198
* पहचान की *
* पहचान की *
surenderpal vaidya
धिक्कार है धिक्कार है ...
धिक्कार है धिक्कार है ...
आर एस आघात
घुली अजब सी भांग
घुली अजब सी भांग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
So, blessed by you , mom
So, blessed by you , mom
Rajan Sharma
Loading...