Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Dec 2022 · 1 min read

“ सबकेँ स्वागत “

डॉ लक्ष्मण झा ” परिमल ”
===================
पैघे टा नहि
छोटो केँ ,
अभिनंदन
हम करैत छी !
प्रेम सँ जे
जुड़ता हमरा सँ ,
स्वीकार सदा
हम करैत छी !!
सब छथि
अपना मे बाझल ,
अपना धुन मे
छथि मातल
प्रतिभा आ
आलोक केँ वो ,
नहि छथि पसारय
मे बाँचल !!
उपरागक गप्प
नहि कखनो
करबा क मन हुये
जेहन छी ओहने
छी सब दिन
कथमपि
परिवर्तन नहि हुये !!
कटुता क
स्थानक एतय ,
भला कहू
कौन काज ?
अभद्रता क
भाषा सँ ,
अछि हमरा
सबकेँ लाज !!
जे सोझा
आबैत छथि ,
हुनका आहाँ
सत्कार करू !
जे हृदय विदीर्ण
आहाँ केँ करताह ,
तिनका आहाँ
अस्वीकार करू !!
हम मित्र
शीघ्रतम बनिकें ,
सुंदर किला
बना लैत छी !
छोट छोट
मतांतर लकेँ ,
अपना मे हम
उलझैत छी !!
पैघे टा नहि
छोटो केँ ,
अभिनंदन
हम करैत छी !
प्रेम सँ जे
जुड़ता हमरा सँ ,
स्वीकार सदा
हम करैत छी !!
====================
डॉ लक्ष्मण झा ” परिमल ”
साउंड हेल्थ क्लिनिक
डॉक्टर’स लेन
दुमका
झारखंड
भारत
07.12.2022

Language: Maithili
Tag: कविता
42 Views
You may also like:
तेरी तसवीर को आज शाम,
तेरी तसवीर को आज शाम,
Nitin
चलना हमें होगा
चलना हमें होगा
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
//स्वागत है:२०२२//
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
💐प्रेम कौतुक-367💐
💐प्रेम कौतुक-367💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हाइकु कविता- करवाचौथ
हाइकु कविता- करवाचौथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जिन्दगी कुछ इस कदर रूठ गई है हमसे
जिन्दगी कुछ इस कदर रूठ गई है हमसे
श्याम सिंह बिष्ट
कलाम को सलाम
कलाम को सलाम
Satish Srijan
कुकुरा
कुकुरा
Sushil chauhan
मेरे सपनों का भारत
मेरे सपनों का भारत
Shekhar Chandra Mitra
नया साल
नया साल
सुषमा मलिक "अदब"
अनकहे अल्फाज़
अनकहे अल्फाज़
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Sometimes you shut up not
Sometimes you shut up not
Vandana maurya
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर की तरह ब
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर...
Dr.Priya Soni Khare
जो दिल के पास रहते हैं
जो दिल के पास रहते हैं
Ranjana Verma
कुछ घूँट
कुछ घूँट
Dr Rajiv
वक़्त पर तू अगर वक़्त का
वक़्त पर तू अगर वक़्त का
Dr fauzia Naseem shad
मेरा बचपन
मेरा बचपन
Ankita Patel
श्रेष्ठों को ना
श्रेष्ठों को ना
DrLakshman Jha Parimal
चंद दोहे....
चंद दोहे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
1971 में आरंभ हुई थी अनूठी  त्रैमासिक पत्रिका
1971 में आरंभ हुई थी अनूठी त्रैमासिक पत्रिका "शिक्षा और...
Ravi Prakash
बाल कहानी- बाल विवाह
बाल कहानी- बाल विवाह
SHAMA PARVEEN
शब्दों के अर्थ
शब्दों के अर्थ
सूर्यकांत द्विवेदी
मेरी दादी के नजरिये से छोरियो की जिन्दगी।।
मेरी दादी के नजरिये से छोरियो की जिन्दगी।।
Nav Lekhika
एहसासों से हो जिंदा
एहसासों से हो जिंदा
Buddha Prakash
हे काश !!
हे काश !!
Akash Yadav
कलम की ताकत
कलम की ताकत
Seema gupta,Alwar
उसको भेजा हुआ खत
उसको भेजा हुआ खत
कवि दीपक बवेजा
#यादों_का_झरोखा-
#यादों_का_झरोखा-
*Author प्रणय प्रभात*
कुकिंग शुकिंग
कुकिंग शुकिंग
Surinder blackpen
***
*** " एक आवाज......!!! " ***
VEDANTA PATEL
Loading...