Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2024 · 1 min read

सफ़र जिंदगी के…..!

” इस सफ़र के छोर कहाँ तक है…
कुछ पता नहीं….!
ये बंधन के डोर मजबूत है कितनी…
कुछ पता नहीं….!
ये सांसों के स्पंदन कब तक है…
कुछ पता नहीं….!
तेरे-मेरे विचार मिलते हैं कितनी…
कुछ भी पता नहीं….!
पर मालूम है कि मुझे…
कुछ कदम तेरी है…
कुछ कदम मेरा है, इस सफ़र में…!
है कहाँ विश्राम..?
कौन है साथ अपने..? इस सफ़र में…
कुछ पता नहीं…!
कौन है पराये..?
कौन है अपने..? इस सफ़र में…
कुछ भी पता नहीं…!
लेकिन मालूम है कि मुझे…
कदम अपने…
कुछ डगमगायेंगे,
चलते-चलते पांवों में अपने…
कुछ छाले पड़ जायेंगे, इस सफ़र में…!
शिकवा और शिकायत होंगे…
हर कदम-कदम पर, इस सफ़र में…!
फिर भी हमें…
साथ-साथ चलने होंगे, इस सफ़र में…!
और कुछ तय समय में ही…
लंबी दूरी चलने होंगे, इस सफ़र में…!

**********∆∆∆*********

Language: Hindi
1 Like · 30 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VEDANTA PATEL
View all
You may also like:
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
कवि दीपक बवेजा
उस दिन
उस दिन
Shweta Soni
कमीजें
कमीजें
Madhavi Srivastava
रदुतिया
रदुतिया
Nanki Patre
शुभ रात्रि मित्रों
शुभ रात्रि मित्रों
आर.एस. 'प्रीतम'
जीवन मंत्र वृक्षों के तंत्र होते हैं
जीवन मंत्र वृक्षों के तंत्र होते हैं
Neeraj Agarwal
"बेजुबान"
Dr. Kishan tandon kranti
***
***
sushil sarna
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
जागृति
जागृति
Shyam Sundar Subramanian
लहजा बदल गया
लहजा बदल गया
Dalveer Singh
यशोधरा के प्रश्न गौतम बुद्ध से
यशोधरा के प्रश्न गौतम बुद्ध से
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
हर रोज वहीं सब किस्से हैं
हर रोज वहीं सब किस्से हैं
Mahesh Tiwari 'Ayan'
O God, I'm Your Son
O God, I'm Your Son
VINOD CHAUHAN
शेरे-पंजाब
शेरे-पंजाब
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
संतान को संस्कार देना,
संतान को संस्कार देना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
रूठ मत जाना
रूठ मत जाना
surenderpal vaidya
25 , *दशहरा*
25 , *दशहरा*
Dr .Shweta sood 'Madhu'
23/115.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/115.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
HAPPY CHILDREN'S DAY!!
HAPPY CHILDREN'S DAY!!
Srishty Bansal
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सामी विकेट लपक लो, और जडेजा कैच।
सामी विकेट लपक लो, और जडेजा कैच।
गुमनाम 'बाबा'
श्री कृष्ण भजन 【आने से उसके आए बहार】
श्री कृष्ण भजन 【आने से उसके आए बहार】
Khaimsingh Saini
*गरमी का मौसम बुरा, खाना तनिक न धूप (कुंडलिया)*
*गरमी का मौसम बुरा, खाना तनिक न धूप (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
लौ
लौ
Dr. Seema Varma
भोलेनाथ
भोलेनाथ
Adha Deshwal
दुनियाँ की भीड़ में।
दुनियाँ की भीड़ में।
Taj Mohammad
तू सरिता मै सागर हूँ
तू सरिता मै सागर हूँ
Satya Prakash Sharma
प्रेमियों के भरोसे ज़िन्दगी नही चला करती मित्र...
प्रेमियों के भरोसे ज़िन्दगी नही चला करती मित्र...
पूर्वार्थ
लिखू आ लोक सँ जुड़ब सीखू, परंच याद रहय कखनो किनको आहत नहिं कर
लिखू आ लोक सँ जुड़ब सीखू, परंच याद रहय कखनो किनको आहत नहिं कर
DrLakshman Jha Parimal
Loading...