Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Mar 2024 · 1 min read

सफर कितना है लंबा

सफर कितना है लंबा
होते रास्ते ख़तम
कभी नहीं
मुड़ जाते हैं
हर छोर पर

मील का पत्थर
तो बस निशाँ हैं
लिखा है जहां
अभी सफ़र और
बहुत बाक़ी है

. . . . . . . अतुल “कृष्ण”

104 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Atul "Krishn"
View all
You may also like:
उलझन से जुझनें की शक्ति रखें
उलझन से जुझनें की शक्ति रखें
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दिगपाल छंद{मृदुगति छंद ),एवं दिग्वधू छंद
दिगपाल छंद{मृदुगति छंद ),एवं दिग्वधू छंद
Subhash Singhai
महादेव
महादेव
C.K. Soni
‘ विरोधरस ‘---11. || विरोध-रस का आलंबनगत संचारी भाव || +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---11. || विरोध-रस का आलंबनगत संचारी भाव || +रमेशराज
कवि रमेशराज
ये तो मुहब्बत में
ये तो मुहब्बत में
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
यादें
यादें
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
" समय बना हरकारा "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
जहाँ बचा हुआ है अपना इतिहास।
जहाँ बचा हुआ है अपना इतिहास।
Buddha Prakash
बाकई में मौहब्बत के गुनहगार हो गये हम ।
बाकई में मौहब्बत के गुनहगार हो गये हम ।
Phool gufran
सारी उमर तराशा,पाला,पोसा जिसको..
सारी उमर तराशा,पाला,पोसा जिसको..
Shweta Soni
आज़ के पिता
आज़ के पिता
Sonam Puneet Dubey
सबरी के जूठे बेर चखे प्रभु ने उनका उद्धार किया।
सबरी के जूठे बेर चखे प्रभु ने उनका उद्धार किया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
दुख तब नहीं लगता
दुख तब नहीं लगता
Harminder Kaur
मेरे दिल ओ जां में समाते जाते
मेरे दिल ओ जां में समाते जाते
Monika Arora
रूठ मत जाना
रूठ मत जाना
surenderpal vaidya
// श्री राम मंत्र //
// श्री राम मंत्र //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अपनी क्षमता का पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना ही इस दुनिया में सब
अपनी क्षमता का पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना ही इस दुनिया में सब
Paras Nath Jha
ईगो का विचार ही नहीं
ईगो का विचार ही नहीं
शेखर सिंह
ज़िंदगी की
ज़िंदगी की
Dr fauzia Naseem shad
2882.*पूर्णिका*
2882.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ख़ामोशी
ख़ामोशी
Dipak Kumar "Girja"
■ देसी ग़ज़ल
■ देसी ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
अगर पात्रता सिद्ध कर स्त्री पुरुष को मां बाप बनना हो तो कितन
अगर पात्रता सिद्ध कर स्त्री पुरुष को मां बाप बनना हो तो कितन
Pankaj Kushwaha
"धरती गोल है"
Dr. Kishan tandon kranti
*श्री रामप्रकाश सर्राफ*
*श्री रामप्रकाश सर्राफ*
Ravi Prakash
19)”माघी त्योहार”
19)”माघी त्योहार”
Sapna Arora
मिलती नहीं खुशी अब ज़माने पहले जैसे कहीं भी,
मिलती नहीं खुशी अब ज़माने पहले जैसे कहीं भी,
manjula chauhan
नए पुराने रूटीन के याचक
नए पुराने रूटीन के याचक
Dr MusafiR BaithA
"" *माँ सरस्वती* ""
सुनीलानंद महंत
मोहब्बत
मोहब्बत
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
Loading...