Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Oct 2022 · 1 min read

सदा सुहागन रहो

सदा सुहागन रहो दुआ करते हैं
ये व्रत सफल रहे दुआ करते हैं
सदा सुहागन रहो…………….
तुम प्रीत हो तुम ही प्यार सुनो
तुम पर कितना एतबार सुनो
सदा सुहागन रहो…………….
तुम जीवन भर कष्ट उठाती हो
फिर भी सारे फर्ज निभाती हो
सदा सुहागन रहो…………….
ये व्रत जो सभी नारी रखती हैं
पति हित में ही पूजा करती हैं
सदा सुहागन रहो…………….
तुम्हारे दिलों में अरमान खिले
‘विनोद’ सबको सम्मान मिले
सदा सुहागन रहो……………

स्वरचित
( विनोद चौहान )

4 Likes · 2 Comments · 616 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VINOD CHAUHAN
View all
You may also like:
ईश्वर की बनाई दुनिया में
ईश्वर की बनाई दुनिया में
Shweta Soni
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मन मूरख बहुत सतावै
मन मूरख बहुत सतावै
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सत्य ही सनाान है , सार्वभौमिक
सत्य ही सनाान है , सार्वभौमिक
Leena Anand
*स्वर्ग तुल्य सुन्दर सा है परिवार हमारा*
*स्वर्ग तुल्य सुन्दर सा है परिवार हमारा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जो लोग बिछड़ कर भी नहीं बिछड़ते,
जो लोग बिछड़ कर भी नहीं बिछड़ते,
शोभा कुमारी
पश्चिम का सूरज
पश्चिम का सूरज
डॉ० रोहित कौशिक
यूँ ही नही लुभाता,
यूँ ही नही लुभाता,
हिमांशु Kulshrestha
** सपने सजाना सीख ले **
** सपने सजाना सीख ले **
surenderpal vaidya
दायरे से बाहर (आज़ाद गज़लें)
दायरे से बाहर (आज़ाद गज़लें)
AJAY PRASAD
नाबालिक बच्चा पेट के लिए काम करे
नाबालिक बच्चा पेट के लिए काम करे
शेखर सिंह
ना जाने कैसी मोहब्बत कर बैठे है?
ना जाने कैसी मोहब्बत कर बैठे है?
Kanchan Alok Malu
चेतावनी हिमालय की
चेतावनी हिमालय की
Dr.Pratibha Prakash
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
रंग जीवन के
रंग जीवन के
Ranjana Verma
धुप मे चलने और जलने का मज़ाक की कुछ अलग है क्योंकि छाव देखते
धुप मे चलने और जलने का मज़ाक की कुछ अलग है क्योंकि छाव देखते
Ranjeet kumar patre
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जय जय राजस्थान
जय जय राजस्थान
Ravi Yadav
श्री सुंदरलाल सिंघानिया ने सुनाया नवाब कल्बे अली खान के आध्यात्मिक व्यक्तित्व क
श्री सुंदरलाल सिंघानिया ने सुनाया नवाब कल्बे अली खान के आध्यात्मिक व्यक्तित्व क
Ravi Prakash
"सच का टुकड़ा"
Dr. Kishan tandon kranti
ले बुद्धों से ज्ञान
ले बुद्धों से ज्ञान
Shekhar Chandra Mitra
" तुम्हारे इंतज़ार में हूँ "
Aarti sirsat
सांझा चूल्हा4
सांझा चूल्हा4
umesh mehra
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जिम्मेदारियाॅं
जिम्मेदारियाॅं
Paras Nath Jha
अपना बिहार
अपना बिहार
AMRESH KUMAR VERMA
चूल्हे की रोटी
चूल्हे की रोटी
प्रीतम श्रावस्तवी
💐प्रेम कौतुक-518💐
💐प्रेम कौतुक-518💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
फिर भी तो बाकी है
फिर भी तो बाकी है
gurudeenverma198
पानी
पानी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...