Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jan 2024 · 1 min read

सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं

सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
हमारी ही प्रतीक्षा के , सुखद परिणाम आए हैं ।।
जले दीपक सजी बाती , सजे आँगन सुमनलड़ियाँ ।
खड़ी बाला सु स्वागत में , नये आयाम भाए हैं ।।
बड़ी छोटी प्रजा सारी , खुशी में है गले मिलती
धनी निर्धन सबल दुर्बल , सभी के राम आए हैं ।
भरे दरबार भक्तों से , घरों में अब भजन गूँजें
हुए दुख दूर सब जन के, यही पैगाम लाए हैं ।।
पताका धर्म की लहरी , सुशासित राम राज्य में ।
बढ़ीं घड़ियाँ सुअवसर की , सनातन नाम पाए हैं ।।
डाॅ रीता सिंह
चन्दौसी, सम्भल

2 Likes · 311 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Rita Singh
View all
You may also like:
क्या यही संसार होगा...
क्या यही संसार होगा...
डॉ.सीमा अग्रवाल
उम्र निकल रही है,
उम्र निकल रही है,
Ansh
दिल में जो आता है।
दिल में जो आता है।
Taj Mohammad
"बताओ"
Dr. Kishan tandon kranti
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ज़िदादिली
ज़िदादिली
Shyam Sundar Subramanian
मिसाइल मैन को नमन
मिसाइल मैन को नमन
Dr. Rajeev Jain
Tahrir kar rhe mere in choto ko ,
Tahrir kar rhe mere in choto ko ,
Sakshi Tripathi
जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी
जीवन की सबसे बड़ी त्रासदी
ruby kumari
** सपने सजाना सीख ले **
** सपने सजाना सीख ले **
surenderpal vaidya
मौज में आकर तू देता,
मौज में आकर तू देता,
Satish Srijan
तुम कभी यह चिंता मत करना कि हमारा साथ यहाँ कौन देगा कौन नहीं
तुम कभी यह चिंता मत करना कि हमारा साथ यहाँ कौन देगा कौन नहीं
Dr. Man Mohan Krishna
*भारत माता को किया, किसने लहूलुहान (कुंडलिया)*
*भारत माता को किया, किसने लहूलुहान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-161💐
💐प्रेम कौतुक-161💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुमसे ही दिन मेरा तुम्ही से होती रात है,
तुमसे ही दिन मेरा तुम्ही से होती रात है,
AVINASH (Avi...) MEHRA
अच्छा इंसान
अच्छा इंसान
Dr fauzia Naseem shad
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
Kanchan Khanna
मोहब्बत ना सही तू नफ़रत ही जताया कर
मोहब्बत ना सही तू नफ़रत ही जताया कर
Gouri tiwari
पापा की बिटिया
पापा की बिटिया
Arti Bhadauria
माँ की करते हम भक्ति,  माँ कि शक्ति अपार
माँ की करते हम भक्ति, माँ कि शक्ति अपार
Anil chobisa
सफ़र जिंदगी का (कविता)
सफ़र जिंदगी का (कविता)
Indu Singh
हवस
हवस
Dr. Pradeep Kumar Sharma
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
विषय -परिवार
विषय -परिवार
Nanki Patre
श्रेष्ठ बंधन
श्रेष्ठ बंधन
Dr. Mulla Adam Ali
.......... मैं चुप हूं......
.......... मैं चुप हूं......
Naushaba Suriya
23/158.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/158.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लहज़ा गुलाब सा है, बातें क़माल हैं
लहज़ा गुलाब सा है, बातें क़माल हैं
Dr. Rashmi Jha
दुःख, दर्द, द्वन्द्व, अपमान, अश्रु
दुःख, दर्द, द्वन्द्व, अपमान, अश्रु
Shweta Soni
कभी कभी मौन रहने के लिए भी कम संघर्ष नहीं करना पड़ता है।
कभी कभी मौन रहने के लिए भी कम संघर्ष नहीं करना पड़ता है।
Paras Nath Jha
Loading...