Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Mar 2024 · 1 min read

सच की राह दिखाऊंगा

आओ आओ सारे आओ सच की राह दिखाऊंगा।
झूठ बोलना भूल जाओगे मैं ऐसा ज्ञान सिखाऊंगा।।
जब तक सांसे चले तुम्हारी इसी ज्ञान पर चल लेना ।
आदर्श मानव की श्रेणी में नाम तुम्हारा लिखवाऊंगा।।
मानव है हम मानव बनकर मानवता का ध्यान रखे ।
साथ में जिनके बीते जीवन सदा उनका सम्मान रखे ।।
सेवा समर्पण सच्चा जीवन करते ही यह जाना है ।
पल भर के लिए भी मन में कभी न कोई गुमान रखे ।।
भूखे को तुम भोजन देना लाख दुवाएं पाओगे ।
ईश्वर अपने पास रखेगा दर उनके जब जाओगे ।।
जीवन की सच्चाई यही है सबका हाथ बंटा लेना ।
भरोसा “अनुनय “को तुम पर बात मेरी अपनाओगे।।
सच की राह बताई मैने _ मुझको तो यही भायी है।
जीवन की अनमोल कमाई रास क्या तुमको आई है।।
भूल जाओगे दुनियां सारी याद यही रह जाएगी ।
चलो संभालो पूंजी अपनी मैने आज लुटाई है ।।
राजेश व्यास अनुनय

3 Likes · 87 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बाल कविता: 2 चूहे मोटे मोटे (2 का पहाड़ा, शिक्षण गतिविधि)
बाल कविता: 2 चूहे मोटे मोटे (2 का पहाड़ा, शिक्षण गतिविधि)
Rajesh Kumar Arjun
अंतस के उद्वेग हैं ,
अंतस के उद्वेग हैं ,
sushil sarna
"जिस बिल्ली के भाग से छींका टूट जाए, उसे कुछ माल निरीह चूहों
*प्रणय प्रभात*
राम - दीपक नीलपदम्
राम - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
अनचाहे अपराध व प्रायश्चित
अनचाहे अपराध व प्रायश्चित
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
मानव पहले जान ले,तू जीवन  का सार
मानव पहले जान ले,तू जीवन का सार
Dr Archana Gupta
इंसान जिन्हें
इंसान जिन्हें
Dr fauzia Naseem shad
शहर के लोग
शहर के लोग
Madhuyanka Raj
जीत रही है जंग शांति की हार हो रही।
जीत रही है जंग शांति की हार हो रही।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
मैंने तो बस उसे याद किया,
मैंने तो बस उसे याद किया,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
बसंत
बसंत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Nishant prakhar
याद रहेगा यह दौर मुझको
याद रहेगा यह दौर मुझको
Ranjeet kumar patre
प्रभु गुण कहे न जाएं तुम्हारे। भजन
प्रभु गुण कहे न जाएं तुम्हारे। भजन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जब तात तेरा कहलाया था
जब तात तेरा कहलाया था
Akash Yadav
मां की प्रतिष्ठा
मां की प्रतिष्ठा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
समस्या का समाधान
समस्या का समाधान
Paras Nath Jha
यादें
यादें
Dinesh Kumar Gangwar
वो,
वो,
हिमांशु Kulshrestha
नारी के बिना जीवन, में प्यार नहीं होगा।
नारी के बिना जीवन, में प्यार नहीं होगा।
सत्य कुमार प्रेमी
कभी-कभी
कभी-कभी
Ragini Kumari
ओ लहर बहती रहो …
ओ लहर बहती रहो …
Rekha Drolia
जी रहे है तिरे खयालों में
जी रहे है तिरे खयालों में
Rashmi Ranjan
Biography Sauhard Shiromani Sant Shri Dr Saurabh
Biography Sauhard Shiromani Sant Shri Dr Saurabh
World News
छल और फ़रेब करने वालों की कोई जाति नहीं होती,उनका जाति बहिष्
छल और फ़रेब करने वालों की कोई जाति नहीं होती,उनका जाति बहिष्
Shweta Soni
सफर की यादें
सफर की यादें
Pratibha Pandey
*लू के भभूत*
*लू के भभूत*
Santosh kumar Miri
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बुढापे की लाठी
बुढापे की लाठी
Suryakant Dwivedi
2337.पूर्णिका
2337.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...