सच्ची घटना का काव्यमय प्रस्तुति

किसी किसी इंसान की कैसी होती है तकदीर ?
———————————————————–
किसी किसी इंसान की कैसी होती है तकदीर ?
कभीकभी भगवान भी निर्मम हो जाता बेपीर।।
दो बेटी एक बेटा पत्नी पति का था परिवार ,
सब खुशियाँ उनके घर में थीं सुखमय था संसार ।
आठ माह का बेटा था सुन्दर सुघड़ सलोना,
क्रूर काल के कारण होगया होना था जो होना ।।
बेटा बेटी पति पत्नी से घर थी खुशहाली।
बड़ा प्यार था पति पत्नी में मन में थी हरियाली ।।
एक दिन शैर सपाटे को निकले पति पत्नी और बेटा ।
मासूम से बेटे और पति का बड़ा भाग्य था हेटा ।।
अचानक एक्सीडेंट हुआ और पत्नी स्वर्ग सिधारी
क्रूर काल ने क्रूर भाग्य पर क्रूरतम ठोकर मारी ।।
पति असहाय बिलख रहा था न बेटे को खरोंच तक आयी ।
क्रूर काल की क्रूरतम ठोकर ह्रदय में गयी समायी।।
शोकाकुल परिवार हुआ भाग्य फूट गया पति का ।
तिनका तिनका वना घोंसला टूट गया था पति का ।।
आठ माह के कौमल शिशु का कौन था पालनहारा ।
पति की छोटी बहिन अलावा नहीं था कोई सहारा
हाय हाय पशु पक्षी करि रहे तरु भी अकुलाय रहे थे ।
अश्रुपात करके तरु मानो पत्ते गिराइ रहे थे ।।
मृगों के शावक शोक में उगल रहे थे निवाला।
पति बेटे के क्रूर भाग्य का कोई न था रखवाला ।।
बहिन जब दूध पिलाती माँ की याद आ जाती ।
पाषाण भी पिघलने लगता फट जाती बज्र की छाती ।।
मोरों ने नाचना छोड़ दिया धेनुओं ने पानी पीना ।
कोयल ने कूकना छोड़ दिया पशुओं ने जैसे जीना ।।
शोक भी शोकाकुल सा हुआ जैसे अश्रुपात हो रहा हो ।
करुणा भी कराह उठी जैसे वार वार रो रहा हो ।। माँ की याद करके शिशु रोता जाता चुप न कराया ।
माँ को इधर उधर देखता फिर भी कहीं न पाया ।
परिवार पडौसी सब थे बिलखते शिशु की कैसी ये तकदीर ।
समझाने से ह्रदय न समझे धरे न मन ये धीर ।।
ऐसा निर्मम भाग्य लिखे न खुदा कभी किसी का।
सभी प्रसन्न सुखी सब होवें होवे भला सभी का ।।
बिशेष:-सच्ची घटना पर आधारित

155 Views
You may also like:
तेरे दिल में कोई और है
Ram Krishan Rastogi
तपिश
SEEMA SHARMA
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तेरा यह आईना
gurudeenverma198
सफलता की कुंजी ।
Anamika Singh
फास्ट फूड
AMRESH KUMAR VERMA
【9】 *!* सुबह हुई अब बिस्तर छोडो *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पिता की छाँव...
मनोज कर्ण
हे कुंठे ! तू न गई कभी मन से...
ओनिका सेतिया 'अनु '
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
पिता जी का आशीर्वाद है !
Kuldeep mishra (KD)
Un-plucked flowers
Aditya Prakash
आज तिलिस्म टूट गया....
Saraswati Bajpai
अभी बचपन है इनका
gurudeenverma198
नरसिंह अवतार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दर्द भरे गीत
Dr.sima
ये नारी है नारी।
Taj Mohammad
बुआ आई
राजेश 'ललित'
जिंदगी और करार
ananya rai parashar
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
नया बाजार रिश्ते उधार (मंगनी) बिक रहे जन्मदिन है ।...
Dr.sima
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Is It Possible
Manisha Manjari
बांस का चावल
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"मैं तुम्हारा रहा"
Lohit Tamta
लत...
Sapna K S
माँ गंगा
Anamika Singh
पिता हैं छाँव जैसे
अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
【12】 **" तितली की उड़ान "**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
Loading...