Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Nov 2022 · 1 min read

संघर्ष बिना कुछ नहीं मिलता

बिना संघर्ष व्यर्थ है जीवन तेरा
बिना संघर्ष व्यर्थ हे जीवन मेरा।
बिना संघर्ष इस दुनिया में
मिलता नहीं कुछ खास।
बिना संघर्ष हर का जीवन
है निराकार और बकवास।
बिना छेनी-हथौड़ी की चोट खाए
बनता नहीं पत्थर भी भगवान।
बिना संघर्ष के बनता नहीं
लकड़ी से सुंदर सामान।
बिना संघर्ष किए बनता नहीं
कोई भी व्यक्ति महान।
बिना समुद्र मंथन किए
अमर नहीं हुए थे भगवान।
इसीलिए
कहता आज यह श्रीयांश है
बिना संघर्ष हर का जीवन
निराकार और बकवास है।

– श्रीयांश गुप्ता

Language: Hindi
4 Likes · 2 Comments · 289 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वो अपने घाव दिखा रहा है मुझे
वो अपने घाव दिखा रहा है मुझे
Manoj Mahato
*नववर्ष*
*नववर्ष*
Dr. Priya Gupta
*प्रबल हैं भाव भक्तों के, प्रभु-दर्शन जो आते हैं (मुक्तक )*
*प्रबल हैं भाव भक्तों के, प्रभु-दर्शन जो आते हैं (मुक्तक )*
Ravi Prakash
विटप बाँटते छाँव है,सूर्य बटोही धूप।
विटप बाँटते छाँव है,सूर्य बटोही धूप।
डॉक्टर रागिनी
नए वर्ष की इस पावन बेला में
नए वर्ष की इस पावन बेला में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
उम्र निकल रही है,
उम्र निकल रही है,
Ansh
24/249. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/249. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🌹हार कर भी जीत 🌹
🌹हार कर भी जीत 🌹
Dr Shweta sood
नारी तेरे रूप अनेक
नारी तेरे रूप अनेक
विजय कुमार अग्रवाल
।। बुलबुले की भांति हैं ।।
।। बुलबुले की भांति हैं ।।
Aryan Raj
सबसे नालायक बेटा
सबसे नालायक बेटा
आकांक्षा राय
"दस्तूर"
Dr. Kishan tandon kranti
राही
राही
RAKESH RAKESH
मैं भी अपनी नींद लुटाऊं
मैं भी अपनी नींद लुटाऊं
करन ''केसरा''
आता एक बार फिर से तो
आता एक बार फिर से तो
Dr Manju Saini
मुहब्बत भी मिल जाती
मुहब्बत भी मिल जाती
Buddha Prakash
खुश होना नियति ने छीन लिया,,
खुश होना नियति ने छीन लिया,,
पूर्वार्थ
खामोश कर्म
खामोश कर्म
Sandeep Pande
यदि तुमने किसी लड़की से कहीं ज्यादा अपने लक्ष्य से प्यार किय
यदि तुमने किसी लड़की से कहीं ज्यादा अपने लक्ष्य से प्यार किय
Rj Anand Prajapati
सृजन तेरी कवितायें
सृजन तेरी कवितायें
Satish Srijan
मर्दों वाला काम
मर्दों वाला काम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
#प्रेरक_प्रसंग-
#प्रेरक_प्रसंग-
*प्रणय प्रभात*
बचपन
बचपन
Dr. Seema Varma
होता नहीं कम काम
होता नहीं कम काम
जगदीश लववंशी
एहसास
एहसास
Vandna thakur
RAKSHA BANDHAN
RAKSHA BANDHAN
डी. के. निवातिया
बन्दे   तेरी   बन्दगी  ,कौन   करेगा   यार ।
बन्दे तेरी बन्दगी ,कौन करेगा यार ।
sushil sarna
रमणीय प्रेयसी
रमणीय प्रेयसी
Pratibha Pandey
पात कब तक झरेंगें
पात कब तक झरेंगें
Shweta Soni
इसमें हमारा जाता भी क्या है
इसमें हमारा जाता भी क्या है
gurudeenverma198
Loading...