Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 May 2022 · 1 min read

श्रेय एवं प्रेय मार्ग

कठोपनिषद में मानव को, दो मार्गों का वर्णन है
श्रेय एवं प्रेय मार्ग,किसका अनुसरण करना है
श्रेय मतलब श्रेष्ठ मार्ग, आत्मिक उत्थान का मार्ग है
प्रेय मतलब भोग, इंद्रियगत विषयों का मार्ग है
श्रेय आध्यात्मिकता परमार्थ चिंतन, सत्य विद्या का नाम है
ज्ञानेंद्रियों करमेन्द़ियों को अंतर्मुखी, करने का काम है
आत्मा और परमात्मा मिलन का, एक सच्चा पैगाम है
श्रेय मार्ग आनंद मार्ग है,प़भु से मिलन कराता है
मनुष्य जन्म की सार्थकता, अज्ञान को दूर भगाता है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
7 Likes · 1 Comment · 1037 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
बंदर मामा
बंदर मामा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हम खुद से प्यार करते हैं
हम खुद से प्यार करते हैं
ruby kumari
खेत रोता है
खेत रोता है
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
"लोग क्या कहेंगे" सोच कर हताश मत होइए,
Radhakishan R. Mundhra
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sakshi Tripathi
जनतंत्र में
जनतंत्र में
gurudeenverma198
हमने यूं ही नहीं मुड़ने का फैसला किया था
हमने यूं ही नहीं मुड़ने का फैसला किया था
कवि दीपक बवेजा
रमेशराज के विरोधरस दोहे
रमेशराज के विरोधरस दोहे
कवि रमेशराज
जन्माष्टमी
जन्माष्टमी
लक्ष्मी सिंह
बेचारे नेता
बेचारे नेता
दुष्यन्त 'बाबा'
💐💐तुम्हें देखा तो बहुत सुकून मिला💐💐
💐💐तुम्हें देखा तो बहुत सुकून मिला💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
2577.पूर्णिका
2577.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अपने-अपने काम का, पीट रहे सब ढोल।
अपने-अपने काम का, पीट रहे सब ढोल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
दीप्ति
दीप्ति
Kavita Chouhan
बहुत कुछ अधूरा रह जाता है ज़िन्दगी में
बहुत कुछ अधूरा रह जाता है ज़िन्दगी में
शिव प्रताप लोधी
डियर कामरेड्स
डियर कामरेड्स
Shekhar Chandra Mitra
सीधी मुतधार में सुधार
सीधी मुतधार में सुधार
मानक लाल मनु
बेटियां अमृत की बूंद..........
बेटियां अमृत की बूंद..........
SATPAL CHAUHAN
महादेव ने समुद्र मंथन में निकले विष
महादेव ने समुद्र मंथन में निकले विष
Dr.Rashmi Mishra
गर्मी की छुट्टियां
गर्मी की छुट्टियां
Manu Vashistha
विश्व हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
विश्व हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
एक बे सहारा वृद्ध स्त्री की जीवन व्यथा।
एक बे सहारा वृद्ध स्त्री की जीवन व्यथा।
Taj Mohammad
काश कि ऐसा होता....
काश कि ऐसा होता....
Ajay Kumar Mallah
जी चाहता है रूठ जाऊँ मैं खुद से..
जी चाहता है रूठ जाऊँ मैं खुद से..
शोभा कुमारी
*आगे आनी चाहिऍं, सब भाषाऍं आज (कुंडलिया)*
*आगे आनी चाहिऍं, सब भाषाऍं आज (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सलामी दें तिरंगे को हमें ये जान से प्यारा
सलामी दें तिरंगे को हमें ये जान से प्यारा
आर.एस. 'प्रीतम'
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
■ कमाल है...!
■ कमाल है...!
*Author प्रणय प्रभात*
ज़िंदगी तेरी हद
ज़िंदगी तेरी हद
Dr fauzia Naseem shad
मन के घाव
मन के घाव
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
Loading...