Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2023 · 1 min read

श्रृंगारिक दोहे

रूठी-रूठी नींद है ,ख्वाब न आते पास।
गोरी से अब मिलन की,टूट गई है आस।।1

अधरों पर हैं तैरती ,यादें बनकर गीत।
आ जाओ नववर्ष-सी,ओ प्यारी मनमीत।।2

निखरा यौवन से बदन,खिली रूप की धूप।
आकर्षित सब देखकर,क्या योगी क्या भूप।।3

मुझको आतीं हिचकियाँ,कहतीं हैं ये बात।
उनको भी आती नहीं ,निंदिया सारी रात।।4

बैठे-बैठे आ गया,बरबस उनका ख्याल।
आँखों से आँसू बहे ,गीला हुआ रुमाल।।5

लंपट भौंरा लिपट जब,करे पुष्प सँग प्रीत।
रूप, रंग, सौंदर्य के ,तब वह गाए गीत।।6

थी दोनों के बीच में ,दौलत की दीवार।
साबित करता मैं भला,बोलो कैसे प्यार।।7

जबसे आया हे सखी,यौवन तन के द्वार।
पुरजन परिजन हैं खड़े,बनकर पहरेदार।।8

गले लगाकर प्रेम से ,प्रेमी की तस्वीर।
कर लेती है मिलन की,इच्छा पूरी हीर।।9

नज़रबंद दिल में किया,दे गोरी ने प्यार।
नहीं रिहाई के लिए ,मौके की दरकार।।10

आया गोरी देह पर,जब यौवन मधुमास।
आने की कोशिश करें,भंवरे तब से पास।।11

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 182 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*धन्य-धन्य वे वीर, लक्ष्य जिनका आजादी* *(कुंडलिया)*
*धन्य-धन्य वे वीर, लक्ष्य जिनका आजादी* *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
भूखे भेड़िए
भूखे भेड़िए
Shekhar Chandra Mitra
"रहमत"
Dr. Kishan tandon kranti
बंधन में रहेंगे तो संवर जायेंगे
बंधन में रहेंगे तो संवर जायेंगे
Dheerja Sharma
संकल्प
संकल्प
Shyam Sundar Subramanian
I am sun
I am sun
Rajan Sharma
बेटा बेटी का विचार
बेटा बेटी का विचार
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
खुश वही है , जो खुशियों को खुशी से देखा हो ।
खुश वही है , जो खुशियों को खुशी से देखा हो ।
Nishant prakhar
कम कमाना कम ही खाना, कम बचाना दोस्तो!
कम कमाना कम ही खाना, कम बचाना दोस्तो!
सत्य कुमार प्रेमी
🌹 वधु बनके🌹
🌹 वधु बनके🌹
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
जज्बे का तूफान
जज्बे का तूफान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दिल तमन्ना
दिल तमन्ना
Dr fauzia Naseem shad
#एकअबोधबालक
#एकअबोधबालक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Not only doctors but also cheater opens eyes.
Not only doctors but also cheater opens eyes.
सिद्धार्थ गोरखपुरी
चाँद
चाँद
Atul "Krishn"
आज अचानक आये थे
आज अचानक आये थे
Jitendra kumar
मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम
मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम
Er.Navaneet R Shandily
🚩पिता
🚩पिता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐प्रेम कौतुक-404💐
💐प्रेम कौतुक-404💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रास्ते और राह ही तो होते है
रास्ते और राह ही तो होते है
Neeraj Agarwal
भाषाओं पे लड़ना छोड़ो, भाषाओं से जुड़ना सीखो, अपनों से मुँह ना
भाषाओं पे लड़ना छोड़ो, भाषाओं से जुड़ना सीखो, अपनों से मुँह ना
DrLakshman Jha Parimal
इक तमन्ना थी
इक तमन्ना थी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2787. *पूर्णिका*
2787. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*Author प्रणय प्रभात*
मायने रखता है
मायने रखता है
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
कुछ तो याद होगा
कुछ तो याद होगा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
गुरु दीक्षा
गुरु दीक्षा
GOVIND UIKEY
फितरत अमिट जन एक गहना
फितरत अमिट जन एक गहना
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बर्फ़ीली घाटियों में सिसकती हवाओं से पूछो ।
बर्फ़ीली घाटियों में सिसकती हवाओं से पूछो ।
Manisha Manjari
तुम देखो या ना देखो, तराजू उसका हर लेन देन पर उठता है ।
तुम देखो या ना देखो, तराजू उसका हर लेन देन पर उठता है ।
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...