Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Jul 2023 · 1 min read

शिव से ही है सृष्टि

शिव से ही है सृष्टि
शिव से ही है शक्ति
परम आनंद हो जिसमें
वही तो है शिव भक्ति

Paras Nàth Jha

154 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Paras Nath Jha
View all
You may also like:
2577.पूर्णिका
2577.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
Diwakar Mahto
आया खूब निखार
आया खूब निखार
surenderpal vaidya
"प्रेम -मिलन '
DrLakshman Jha Parimal
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
खुद के होते हुए भी
खुद के होते हुए भी
Dr fauzia Naseem shad
बेटिया विदा हो जाती है खेल कूदकर उसी आंगन में और बहू आते ही
बेटिया विदा हो जाती है खेल कूदकर उसी आंगन में और बहू आते ही
Ranjeet kumar patre
आखिर वो माँ थी
आखिर वो माँ थी
Dr. Kishan tandon kranti
इजाज़त है तुम्हें दिल मेरा अब तोड़ जाने की ।
इजाज़त है तुम्हें दिल मेरा अब तोड़ जाने की ।
Phool gufran
*बेफिक्री का दौर वह ,कहाँ पिता के बाद (कुंडलिया)*
*बेफिक्री का दौर वह ,कहाँ पिता के बाद (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
World Environment Day
World Environment Day
Tushar Jagawat
रिश्ते
रिश्ते
Ashwani Kumar Jaiswal
आदमी सा आदमी_ ये आदमी नही
आदमी सा आदमी_ ये आदमी नही
कृष्णकांत गुर्जर
कोहिनूराँचल
कोहिनूराँचल
डिजेन्द्र कुर्रे
अर्थ में प्रेम है, काम में प्रेम है,
अर्थ में प्रेम है, काम में प्रेम है,
Abhishek Soni
इश्क की खुमार
इश्क की खुमार
Pratibha Pandey
हां मैं पारस हूं, तुम्हें कंचन बनाऊंगी
हां मैं पारस हूं, तुम्हें कंचन बनाऊंगी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
■ सेवाएं ऑनलाइन भी उपलब्ध।
■ सेवाएं ऑनलाइन भी उपलब्ध।
*Author प्रणय प्रभात*
हर शेर हर ग़ज़ल पे है ऐसी छाप तेरी - संदीप ठाकुर
हर शेर हर ग़ज़ल पे है ऐसी छाप तेरी - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
💐प्रेम कौतुक-202💐
💐प्रेम कौतुक-202💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भीम षोडशी
भीम षोडशी
SHAILESH MOHAN
मैं
मैं
Vivek saswat Shukla
Kitna hasin ittefak tha ,
Kitna hasin ittefak tha ,
Sakshi Tripathi
हँस लो! आज  दर-ब-दर हैं
हँस लो! आज दर-ब-दर हैं
दुष्यन्त 'बाबा'
संविधान ग्रंथ नहीं मां भारती की एक आत्मा 🇮🇳
संविधान ग्रंथ नहीं मां भारती की एक आत्मा 🇮🇳
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
आसां  है  चाहना  पाना मुमकिन नहीं !
आसां है चाहना पाना मुमकिन नहीं !
Sushmita Singh
हलमुखी छंद
हलमुखी छंद
Neelam Sharma
वार्तालाप
वार्तालाप
Shyam Sundar Subramanian
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
Loading...