Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Feb 2017 · 1 min read

शारदे वन्दना

वन्दनाएं/ प्रार्थना/धार्मिक
÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷
चरणों में रखकर माथ में जोडू दोनों हाथ
किरपा तो मैया मुझपर करो।
तुम जानो मन की बात हे सारे जग की मात।
रहम तो थोडा मुझपर करो।
दीन हीन हूँ कला हीन हूँ धरती पर हूँ भार।
इसी वजह से हँसता मुझपर यह सारा संसार।
में सोचूं दिन रात बने मेरी भी बात
जो हाथ तुम मुझपर धरो।
मन मेरा आतुर हे में महिमा तेरी गाउँ
बिना ताल और स्वर के मैया कैसे गान सुनाऊँ।
सारे सजादो सुर सात देदो स्वर की सौगात।
बस उपकार तुम मुझपर करो।
तेरी साधना में मैया सब भेंट गज़ब की लाते।
मै आऊँ ख़ाली हाथो से तो मेरी हंसी उड़ाते।
झुक जाता मेरा माथ सुन लेरी मेरी मात
थोडा तो ध्यान मेरा धरो।
÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷

मधुसूदन गौतम 13022017

Language: Hindi
Tag: गीत
217 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ताजमहल
ताजमहल
Satish Srijan
बेटी हूँ माँ तेरी
बेटी हूँ माँ तेरी
Deepesh purohit
आज़ाद हूं मैं
आज़ाद हूं मैं
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
हारता वो है जो शिकायत
हारता वो है जो शिकायत
नेताम आर सी
भारत मे शिक्षा
भारत मे शिक्षा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
You are not born
You are not born
Vandana maurya
जोड़ तोड़ सीखा नही ,सीखा नही विलाप।
जोड़ तोड़ सीखा नही ,सीखा नही विलाप।
manisha
" मँगलमय नव-वर्ष-2024 "
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
साहित्य मेरा मन है
साहित्य मेरा मन है
Harminder Kaur
खंड: 1
खंड: 1
Rambali Mishra
एक वो है मासूमियत देख उलझा रही हैं खुद को…
एक वो है मासूमियत देख उलझा रही हैं खुद को…
Anand Kumar
तू ही बता, करूं मैं क्या
तू ही बता, करूं मैं क्या
Aditya Prakash
माँ
माँ
नन्दलाल सुथार "राही"
शब्दों में प्रेम को बांधे भी तो कैसे,
शब्दों में प्रेम को बांधे भी तो कैसे,
Manisha Manjari
फ़लसफ़े - दीपक नीलपदम्
फ़लसफ़े - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"महान गायक मच्छर"
Dr. Kishan tandon kranti
सफ़र जिंदगी का (कविता)
सफ़र जिंदगी का (कविता)
Indu Singh
आज़ाद फ़िज़ाओं में उड़ जाऊंगी एक दिन
आज़ाद फ़िज़ाओं में उड़ जाऊंगी एक दिन
Dr fauzia Naseem shad
श्रम साधक को विश्राम नहीं
श्रम साधक को विश्राम नहीं
संजय कुमार संजू
प्यारी तितली
प्यारी तितली
Dr Archana Gupta
नवंबर की ये ठंडी ठिठरती हुई रातें
नवंबर की ये ठंडी ठिठरती हुई रातें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
माॅर्डन आशिक
माॅर्डन आशिक
Kanchan Khanna
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
भाथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
*जी लो ये पल*
*जी लो ये पल*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अब तक नहीं मिला है ये मेरी खता नहीं।
अब तक नहीं मिला है ये मेरी खता नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
मैं तुमसे दुर नहीं हूँ जानम,
मैं तुमसे दुर नहीं हूँ जानम,
Dr. Man Mohan Krishna
प्रेम की चाहा
प्रेम की चाहा
RAKESH RAKESH
****शीतल प्रभा****
****शीतल प्रभा****
Kavita Chouhan
बालकों के जीवन में पुस्तकों का महत्व
बालकों के जीवन में पुस्तकों का महत्व
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
इस दरिया के पानी में जब मिला,
इस दरिया के पानी में जब मिला,
Sahil Ahmad
Loading...