Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Mar 2017 · 1 min read

शायरी

कभी आज तक न कोई
तोड़ के लाया है , आसमान से तारे
फिर क्यूं, ऐसे अरमान, तू
पाल लेता है , अपने सनम के लिए प्यारे
अजीत

माला का टूट के बिखर जाना,
प्यार के पलों का बिखर जाना
दिल पर लगी चोट का न उभर पाना
इंसान न जाने क्या क्या सोच कर
खुद को परेशां किया करता है
वो सच्ची मोहोब्बत नहीं थी,
क्यूं ? फिर यार घबराता है
अजीत

Language: Hindi
Tag: शेर
528 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
View all
You may also like:
*मुझे गाँव की मिट्टी,याद आ रही है*
*मुझे गाँव की मिट्टी,याद आ रही है*
sudhir kumar
निगाहों में छुपा लेंगे तू चेहरा तो दिखा जाना ।
निगाहों में छुपा लेंगे तू चेहरा तो दिखा जाना ।
Phool gufran
ज़िन्दगी की तरकश में खुद मरता है आदमी…
ज़िन्दगी की तरकश में खुद मरता है आदमी…
Anand Kumar
3214.*पूर्णिका*
3214.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तस्वीरें
तस्वीरें
Kanchan Khanna
ज़रा सी  बात में रिश्तों की डोरी  टूट कर बिखरी,
ज़रा सी बात में रिश्तों की डोरी टूट कर बिखरी,
Neelofar Khan
प्रेम.... मन
प्रेम.... मन
Neeraj Agarwal
गृहस्थ संत श्री राम निवास अग्रवाल( आढ़ती )
गृहस्थ संत श्री राम निवास अग्रवाल( आढ़ती )
Ravi Prakash
महाकाल महिमा
महाकाल महिमा
Neeraj Mishra " नीर "
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
नास्तिकों और पाखंडियों के बीच का प्रहसन तो ठीक है,
शेखर सिंह
हास्य गीत
हास्य गीत
*प्रणय प्रभात*
धिक्कार
धिक्कार
Dr. Mulla Adam Ali
अल्फाज़
अल्फाज़
हिमांशु Kulshrestha
वैसे तो चाय पीने का मुझे कोई शौक नहीं
वैसे तो चाय पीने का मुझे कोई शौक नहीं
Sonam Puneet Dubey
माँ
माँ
संजय कुमार संजू
बेबसी (शक्ति छन्द)
बेबसी (शक्ति छन्द)
नाथ सोनांचली
कन्या
कन्या
Bodhisatva kastooriya
Little Things
Little Things
Dhriti Mishra
-- प्यार --
-- प्यार --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
लत
लत
Mangilal 713
जीवन का रंगमंच
जीवन का रंगमंच
Harish Chandra Pande
पद्धरि छंद ,अरिल्ल छंद , अड़िल्ल छंद विधान व उदाहरण
पद्धरि छंद ,अरिल्ल छंद , अड़िल्ल छंद विधान व उदाहरण
Subhash Singhai
तुम मेरी
तुम मेरी
Dr fauzia Naseem shad
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चंदा मामा सुनो ना मेरी बात 🙏
चंदा मामा सुनो ना मेरी बात 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
रेत और जीवन एक समान हैं
रेत और जीवन एक समान हैं
राजेंद्र तिवारी
जिसने भी तुमको देखा है पहली बार ..
जिसने भी तुमको देखा है पहली बार ..
Tarun Garg
नींद की कुंजी / MUSAFIR BAITHA
नींद की कुंजी / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
बेजुबान और कसाई
बेजुबान और कसाई
मनोज कर्ण
Loading...