Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jun 2016 · 1 min read

शायद मैं ना जागूँ एक दिन

शायद मैं ना जागूँ एक दिन…..
———————————————————–
शायद मैं ना जागूं एक दिन,
साँसें जब ये रुक जाए ।
लहू की तीव्र गति रुक जाए
धड़कन दिल की थम जाए ।।
शायद मैं ना जागूँ एक दिन………

उस दिन मेरा नाम जुबाँ पर,
हर कोई के आ जाए ।
मेरी भी एक जीवन गाथा,
इस दुनियाँ में छा जाए ।।
शायद मैं ना जागूँ एक दिन…………

चिर निद्रा में ऐसे सोऊँ,
करवट भी जब ना आये ।
तब मेरे हर कृत्य के चर्चे,
हर एक तबके से आये ।।
शायद मैं ना जागूँ एक दिन…………

जीवन को मैं अब जाना हूँ,
ऑक्सीजन को पहचाना हूँ ।
जन्म मेरा कलयुग में होकर,
सतयुग में मृत्यु आये ।।
शायद मैं ना जागूँ एक दिन…………..

सृष्टि में आच्छादित भय की,
नाम निशाँ तक क्षय हो जाए ।
जन जन को अधिकार मिले,
हर तबके में साधन हो जाए ।।
शायद मैं ना जागूँ एक दिन…………..

मानस में ज्ञान के दीप जले,
संरक्षित जीवन हो जाए ।
चोरी भ्रष्टाचार लूट सब,
मेरे रहते बंद हो जाए ।।
शायद मैं ना जागूँ एक दिन………….

सामरिक अरुण
देवघर झारखण्ड
17 मार्च 2016

Language: Hindi
327 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम्हारा साथ
तुम्हारा साथ
Ram Krishan Rastogi
" वट वृक्ष सा स्पैक्ट्रम "
Dr Meenu Poonia
तरुण
तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अबके तीजा पोरा
अबके तीजा पोरा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
रमेशराज के पर्यावरण-सुरक्षा सम्बन्धी बालगीत
रमेशराज के पर्यावरण-सुरक्षा सम्बन्धी बालगीत
कवि रमेशराज
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का कल होगा
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का कल होगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रेम नि: शुल्क होते हुए भी
प्रेम नि: शुल्क होते हुए भी
प्रेमदास वसु सुरेखा
■ 24 घण्टे चौधराहट।
■ 24 घण्टे चौधराहट।
*Author प्रणय प्रभात*
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*नारियों को आजकल, खुद से कमाना आ गया (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*नारियों को आजकल, खुद से कमाना आ गया (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
मैं लिखता हूं..✍️
मैं लिखता हूं..✍️
Shubham Pandey (S P)
आदमी को आदमी से
आदमी को आदमी से
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
बुद्ध के बदले युद्ध
बुद्ध के बदले युद्ध
Shekhar Chandra Mitra
मेहनत
मेहनत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
उत्तर नही है
उत्तर नही है
Punam Pande
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कल चमन था
कल चमन था
Neelam Sharma
THE MUDGILS.
THE MUDGILS.
Dhriti Mishra
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
2336.पूर्णिका
2336.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
छोड़ दिया
छोड़ दिया
Srishty Bansal
जो ना कहता है
जो ना कहता है
Otteri Selvakumar
"ख़्वाहिश"
Dr. Kishan tandon kranti
एक सही आदमी ही अपनी
एक सही आदमी ही अपनी
Ranjeet kumar patre
सौंदर्य छटा🙏
सौंदर्य छटा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
भारत
भारत
नन्दलाल सुथार "राही"
चिंतन
चिंतन
ओंकार मिश्र
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
गणतंत्र का जश्न
गणतंत्र का जश्न
Kanchan Khanna
श्रीराम
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
Loading...