Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Apr 2024 · 1 min read

शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया

शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
सिर्फ राख होने के लिए इंसान जिन्दगी भर दूसरो से जलता है या ईर्ष्या करता हैं।

1 Like · 54 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सुहागन की अभिलाषा🙏
सुहागन की अभिलाषा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
चाँद तारे गवाह है मेरे
चाँद तारे गवाह है मेरे
shabina. Naaz
किसी से अपनी बांग लगवानी हो,
किसी से अपनी बांग लगवानी हो,
Umender kumar
नवीन और अनुभवी, एकजुट होकर,MPPSC की राह, मिलकर पार करते हैं।
नवीन और अनुभवी, एकजुट होकर,MPPSC की राह, मिलकर पार करते हैं।
पूर्वार्थ
सब विश्वास खोखले निकले सभी आस्थाएं झूठीं
सब विश्वास खोखले निकले सभी आस्थाएं झूठीं
Ravi Ghayal
भारत के बीर सपूत
भारत के बीर सपूत
Dinesh Kumar Gangwar
Harmony's Messenger: Sauhard Shiromani Sant Shri Saurabh
Harmony's Messenger: Sauhard Shiromani Sant Shri Saurabh
World News
क्या....
क्या....
हिमांशु Kulshrestha
*इमली (बाल कविता)*
*इमली (बाल कविता)*
Ravi Prakash
दोस्ती.......
दोस्ती.......
Harminder Kaur
कौन सोचता बोलो तुम ही...
कौन सोचता बोलो तुम ही...
डॉ.सीमा अग्रवाल
बाबा मुझे पढ़ने दो ना।
बाबा मुझे पढ़ने दो ना।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
14, मायका
14, मायका
Dr Shweta sood
बसंत हो
बसंत हो
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
"आँखें तो"
Dr. Kishan tandon kranti
हम जियें  या मरें  तुम्हें क्या फर्क है
हम जियें या मरें तुम्हें क्या फर्क है
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ଆତ୍ମ ଦର୍ଶନ
ଆତ୍ମ ଦର୍ଶନ
Bidyadhar Mantry
रामायण में भाभी
रामायण में भाभी "माँ" के समान और महाभारत में भाभी "पत्नी" के
शेखर सिंह
दोहा त्रयी. . . शीत
दोहा त्रयी. . . शीत
sushil sarna
नदी का किनारा ।
नदी का किनारा ।
Kuldeep mishra (KD)
॥ संकटमोचन हनुमानाष्टक ॥
॥ संकटमोचन हनुमानाष्टक ॥
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
किया आप Tea लवर हो?
किया आप Tea लवर हो?
Urmil Suman(श्री)
ख़ुद ब ख़ुद
ख़ुद ब ख़ुद
Dr. Rajeev Jain
कोई दवा दुआ नहीं कोई जाम लिया है
कोई दवा दुआ नहीं कोई जाम लिया है
हरवंश हृदय
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मैं बहुतों की उम्मीद हूँ
मैं बहुतों की उम्मीद हूँ
ruby kumari
वाणी और पाणी का उपयोग संभल कर करना चाहिए...
वाणी और पाणी का उपयोग संभल कर करना चाहिए...
Radhakishan R. Mundhra
ये 'लोग' हैं!
ये 'लोग' हैं!
Srishty Bansal
Legal Quote
Legal Quote
GOVIND UIKEY
23/30.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/30.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...