Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Mar 2023 · 1 min read

शब्द यदि हर अर्थ का, पर्याय होता जायेगा

शब्द यदि हर अर्थ का, पर्याय होता जायेगा
भाव का व्यापक बड़ा, समुदाय होता जायेगा

कवि हृदय से फूटकर जो गीत का होगा जनम
काव्य का आरम्भ इक, अध्याय होता जायेगा

—महावीर उत्तरांचली

1 Like · 360 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
उम्र आते ही ....
उम्र आते ही ....
sushil sarna
*** आशा ही वो जहाज है....!!! ***
*** आशा ही वो जहाज है....!!! ***
VEDANTA PATEL
रोजी रोटी
रोजी रोटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्रेम और आदर
प्रेम और आदर
ओंकार मिश्र
"कलम और तलवार"
Dr. Kishan tandon kranti
3488.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3488.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
ये न पूछ के क़ीमत कितनी है
ये न पूछ के क़ीमत कितनी है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
खाता काल मनुष्य को, बिछड़े मन के मीत (कुंडलिया)
खाता काल मनुष्य को, बिछड़े मन के मीत (कुंडलिया)
Ravi Prakash
*Each moment again I save*
*Each moment again I save*
Poonam Matia
*ताना कंटक एक समान*
*ताना कंटक एक समान*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
संविधान से, ये देश चलता,
संविधान से, ये देश चलता,
SPK Sachin Lodhi
होलिका दहन कथा
होलिका दहन कथा
विजय कुमार अग्रवाल
छोटी कहानी -
छोटी कहानी - "पानी और आसमान"
Dr Tabassum Jahan
मेरी जिंदगी में मेरा किरदार बस इतना ही था कि कुछ अच्छा कर सकूँ
मेरी जिंदगी में मेरा किरदार बस इतना ही था कि कुछ अच्छा कर सकूँ
Jitendra kumar
मेरी मां।
मेरी मां।
Taj Mohammad
"जीवनसाथी राज"
Dr Meenu Poonia
मुस्कुराए खिल रहे हैं फूल जब।
मुस्कुराए खिल रहे हैं फूल जब।
surenderpal vaidya
दोहा बिषय- महान
दोहा बिषय- महान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जैसे एकसे दिखने वाले नमक और चीनी का स्वाद अलग अलग होता है...
जैसे एकसे दिखने वाले नमक और चीनी का स्वाद अलग अलग होता है...
Radhakishan R. Mundhra
माँ
माँ
Sidhartha Mishra
24)”मुस्करा दो”
24)”मुस्करा दो”
Sapna Arora
जो दिल दरिया था उसे पत्थर कर लिया।
जो दिल दरिया था उसे पत्थर कर लिया।
Neelam Sharma
सच ही सच
सच ही सच
Neeraj Agarwal
राखी (कुण्डलिया)
राखी (कुण्डलिया)
नाथ सोनांचली
-मंहगे हुए टमाटर जी
-मंहगे हुए टमाटर जी
Seema gupta,Alwar
तेरी इस वेबफाई का कोई अंजाम तो होगा ।
तेरी इस वेबफाई का कोई अंजाम तो होगा ।
Phool gufran
लड़कियों की जिंदगी आसान नहीं होती
लड़कियों की जिंदगी आसान नहीं होती
Adha Deshwal
हुनर
हुनर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
तू इश्क, तू खूदा
तू इश्क, तू खूदा
लक्ष्मी सिंह
Loading...