Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#15 Trending Author
May 1, 2022 · 1 min read

वो दिन भी बहुत खूबसूरत थे

वो दिन भी बहुत खूबसूरत थे….
जब
घडी सिर्फ पापा के पास होती थी
और
वक़्त हम सबके पास ….
– कृष्ण सिंह

1 Like · 77 Views
You may also like:
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
जिंदगी को खामोशी से गुज़ारा है।
Taj Mohammad
अपनी क़िस्मत को फिर बदल कर देखते हैं
Muhammad Asif Ali
जिन्दगी रो पड़ी है।
Taj Mohammad
मंज़िल मौत है तो जिंदगी एक सफ़र है
Krishan Singh
मैं भारत हूँ
Dr. Sunita Singh
कवि की नज़र से - पानी
बिमल
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
मैं चिर पीड़ा का गायक हूं
विमल शर्मा'विमल'
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कोई ना अपना रहनुमां है।
Taj Mohammad
ये जज़्बात कहां से लाते हो।
Taj Mohammad
✍️सियासत✍️
"अशांत" शेखर
बाबा अब जल्दी से तुम लेने आओ !
Taj Mohammad
हरिगीतिका
शेख़ जाफ़र खान
# बोरे बासी दिवस /मजदूर दिवस....
Chinta netam " मन "
हिरण
Buddha Prakash
शोर मचाने वाले गिरोह
Anamika Singh
यह चिड़ियाँ अब क्या करेगी
Anamika Singh
अपने इश्क को।
Taj Mohammad
यूं रो कर ना विदा करो।
Taj Mohammad
अच्छा किया तुमने।
Taj Mohammad
करते है प्यार कितना ,ये बता सकते नही हम
Ram Krishan Rastogi
दादी मां की बहुत याद आई
VINOD KUMAR CHAUHAN
योगा
Utsav Kumar Aarya
मिलन की तड़प
Dr. Alpa H. Amin
सुमंगल कामना
Dr.sima
जंत्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
शायरी ने बर्बाद कर दिया |
Dheerendra Panchal
Loading...