Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Feb 10, 2022 · 1 min read

वेलेंटाइन स्पेशल (5)

(००5)
// मैसेज में दिल अपना // (प्रपोज़ डे)

?मैसेज में लिख कर भेज रहा था वो दिल अपना

खत्म हुआ MSg.पैक लम्बा बना बिल अपना❤️

?साल में एक ही बार होती है बात इस तरह से

फर्क नही पड़ता यार चाहे आ जाये बिल जितना❤️

#हैप्पी_प्रपोज़_डे
©® प्रेमयाद कुमार नवीन
जिला – महासमुन्द (छःग)

1 Like · 2 Comments · 100 Views
You may also like:
🌺🍀सुखं इच्छाकर्तारं कदापि शान्ति: न मिलति🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*!* सोच नहीं कमजोर है तू *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
गिरते-गिरते - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
तब से भागा कोलेस्ट्रल
श्री रमण
✍️कधी कधी✍️
"अशांत" शेखर
प्रकृति
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नूर
Alok Saxena
सनातन संस्कृति
मनोज कर्ण
तोड़कर मुझे न देख
अरशद रसूल /Arshad Rasool
दुर्घटना का दंश
DESH RAJ
निशां मिट गए हैं।
Taj Mohammad
नारी को सदा राखिए संग
Ram Krishan Rastogi
ईद
Khushboo Khatoon
नहीं चाहता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण
बारिश का सुहाना माहौल
KAMAL THAKUR
"ईद"
Lohit Tamta
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
मेरा स्वाभिमान है पिता।
Taj Mohammad
दोहे
सूर्यकांत द्विवेदी
हे मात जीवन दायिनी नर्मदे हर नर्मदे हर नर्मदे हर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
परवाना बन गया है।
Taj Mohammad
✍️✍️हमदर्द✍️✍️
"अशांत" शेखर
पर्यावरण पच्चीसी
मधुसूदन गौतम
✍️✍️लफ्ज़✍️✍️
"अशांत" शेखर
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H. Amin
दर्द की कश्ती
DESH RAJ
तुम थे पास फकत कुछ वक्त के लिए।
Taj Mohammad
धीरे-धीरे कदम बढ़ाना
Anamika Singh
Loading...