Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Sep 29, 2016 · 1 min read

वीर सपूत देश के

वीर सपूतों बढे चलो ,देश तुम्हारे साथ है
हम सब भी तुमसे ही हैं, चाहें तुम्हारा हाथ हैं।

तुम ही हो सबके नायक, डरो नहीं तूफ़ानों से
दुश्मन कुछ कर न पाये , सर पर तुम्हारे नाथ है।

लक्ष्य पर साधो निशाना, अंत करो आतंक का
आस बहुत हम सब को तुमसे, तुम्हीं हमारे पार्थ हो।

पत्थर भी फूल हो जायें, यही कामना करते हम
माँ भारती के सपूतों , देश भक्ति परमार्थ है।

अमर हुये मर कर भी तुम, अनुपम भागय तुम्हारा है

नमन तुम्हें करते हम सब हैं, किया हमें कृतार्थ है।

जय हिंद, जय हिंद की सेना
सूक्ष्म लता महाजन

187 Views
You may also like:
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
मेरे दिल की धड़कन से तुम्हारा ख़्याल...../लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
एक पल में जीना सीख ले बंदे
Dr.sima
फरियाद
अनामिका सिंह
इश्क
goutam shaw
मुझे तुम्हारी जरूरत नही...
Sapna K S
रावण का प्रश्न
अनामिका सिंह
काँच के रिश्ते ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
अनामिका सिंह
ग़ज़ल
Anis Shah
तेरी सलामती।
Taj Mohammad
हे ! धरती गगन केऽ स्वामी...
मनोज कर्ण
"सुन नारी मैं माहवारी"
Dr Meenu Poonia
पानी की कहानी, मेरी जुबानी
अनामिका सिंह
✍️औरत हूँ ✍️
"अशांत" शेखर
प्रिय डाक्टर साहब
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कन्यादान लिखना भी कहानी हो गई
VINOD KUMAR CHAUHAN
I feel h
Swami Ganganiya
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मां शारदे
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
सिपाही
Buddha Prakash
बचपन की यादें।
अनामिका सिंह
शहरों के हालात
Ram Krishan Rastogi
मेरा वजूद
अनामिका सिंह
चेहरा तुम्हारा।
Taj Mohammad
मरने के बाद।
Taj Mohammad
वक्त दर्पण दिखा दे तो अच्छा ही है।
Renuka Chauhan
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
छद्म राष्ट्रवाद की पहचान
Mahender Singh Hans
तुमसे इश्क कर रहे हैं।
Taj Mohammad
Loading...