Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jan 2024 · 1 min read

वीर तुम बढ़े चलो…

वीर तुम बढे चलो, कर्मवीर तुम बढ़े चलो,
बुद्ध,कबीरा,रविदास,और भीम की संतान हो,
बिरसा,उधम,झलकारी और फूलन जैसी शान हो ।
आवाज बुलंद करते चलो,उलझनों से सुलझते चलो…
वीर तुम बढ़े चलो …

पंचशील की शिक्षाओं का जीवन में आत्मसात हो,
बुद्ध के संदेशों का दुनिया में प्रचार करो,
करुणा, शील और प्रज्ञा का ही प्रसार हो ।
मानव – मानव में कभी न मतभेद करो …
वीर तुम बढ़े चलो….

कबीरा के छंद, सोरठा, दोहा जनमानस में फैला दो,
सबद,रमैनी और चौपाइयों का अर्थ बता दो,
कबीर की अमृतवाणी को घर -घर में पहुंचा दो ।
जातिविहीन हो मानवधर्म तुम ऐसी बात करो …
वीर तुम बढ़े चलो…

शासन देवानप्रिय अशोक ,शिवाजी और साहू जैसा हो,
समता,बंधुत्व, प्रेमभाव और भाईचारे का पैगाम हो,
अशोक का इतिहास और शिवाजी के शौर्य का नाम हो ।
बनाकर नया इतिहास फूले,साहू,पेरियार की बात करो…
वीर तुम बढ़े चलो….

सदियों का संताप झेला है, अन्याय की बगावत करो,
पैगाम संविधान का लेकर, न्याय की तुम बात करो,
आएंगे नित नए जलजले, उन जलजलों का नाश करो ।
लाख दुशावरियां हों मगर, सामना निडर होकर करो…
वीर तुम बढ़े चलो….

Language: Hindi
1 Like · 100 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आजकल गरीबखाने की आदतें अमीर हो गईं हैं
आजकल गरीबखाने की आदतें अमीर हो गईं हैं
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
जुनून
जुनून
DR ARUN KUMAR SHASTRI
उस रात .....
उस रात .....
sushil sarna
हमारी हिन्दी ऊँच-नीच का भेदभाव नहीं करती.,
हमारी हिन्दी ऊँच-नीच का भेदभाव नहीं करती.,
SPK Sachin Lodhi
नेताजी (कविता)
नेताजी (कविता)
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
चलो आज कुछ बात करते है
चलो आज कुछ बात करते है
Rituraj shivem verma
मेरा सुकून....
मेरा सुकून....
Srishty Bansal
किसी को अपने संघर्ष की दास्तान नहीं
किसी को अपने संघर्ष की दास्तान नहीं
Jay Dewangan
जिन्दगी में
जिन्दगी में
लक्ष्मी सिंह
कौन यहाँ खुश रहता सबकी एक कहानी।
कौन यहाँ खुश रहता सबकी एक कहानी।
Mahendra Narayan
हर सफ़र ज़िंदगी नहीं होता
हर सफ़र ज़िंदगी नहीं होता
Dr fauzia Naseem shad
सच्चा धर्म
सच्चा धर्म
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हो भासा विग्यानी।
हो भासा विग्यानी।
Acharya Rama Nand Mandal
**गैरों के दिल में भी थोड़ा प्यार देना**
**गैरों के दिल में भी थोड़ा प्यार देना**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
रंग उकेरे तूलिका,
रंग उकेरे तूलिका,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*युद्ध लड़ सको तो रण में, कुछ शौर्य दिखाने आ जाना (मुक्तक)*
*युद्ध लड़ सको तो रण में, कुछ शौर्य दिखाने आ जाना (मुक्तक)*
Ravi Prakash
सताती दूरियाँ बिलकुल नहीं उल्फ़त हृदय से हो
सताती दूरियाँ बिलकुल नहीं उल्फ़त हृदय से हो
आर.एस. 'प्रीतम'
2385.पूर्णिका
2385.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
चली गई है क्यों अंजू , तू पाकिस्तान
चली गई है क्यों अंजू , तू पाकिस्तान
gurudeenverma198
जो होता है सही  होता  है
जो होता है सही होता है
Anil Mishra Prahari
महिलाएं अक्सर हर पल अपने सौंदर्यता ,कपड़े एवम् अपने द्वारा क
महिलाएं अक्सर हर पल अपने सौंदर्यता ,कपड़े एवम् अपने द्वारा क
Rj Anand Prajapati
जिंदगी के वास्ते
जिंदगी के वास्ते
Surinder blackpen
"अजातशत्रु"
Dr. Kishan tandon kranti
#शुभ_रात्रि
#शुभ_रात्रि
*Author प्रणय प्रभात*
वो बचपन का गुजरा जमाना भी क्या जमाना था,
वो बचपन का गुजरा जमाना भी क्या जमाना था,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
धैर्य के साथ अगर मन में संतोष का भाव हो तो भीड़ में भी आपके
धैर्य के साथ अगर मन में संतोष का भाव हो तो भीड़ में भी आपके
Paras Nath Jha
दूर नज़र से होकर भी जो, रहता दिल के पास।
दूर नज़र से होकर भी जो, रहता दिल के पास।
डॉ.सीमा अग्रवाल
Experience Life
Experience Life
Saransh Singh 'Priyam'
अपनी हिंदी
अपनी हिंदी
Dr.Priya Soni Khare
बहना तू सबला हो🙏
बहना तू सबला हो🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...