Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Nov 2023 · 1 min read

विश्व कप-2023 फाइनल सुर्खियां

विश्व कप-2023 फाइनल सुर्खियां
सबसे ज्यादा रन-विराट कोहली (765)भारत
सबसे ज्यादा विकेट-मोहम्मद सामी(24)भारत
सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच/
ज्यादा औसत गेंदबाजी-आर० अश्विन, भारत
सबसे अधिक चौके-विराट कोहली (68)भारत
सबसे अधिक छक्के-रोहित शर्मा (31)भारत
सबसे ज्यादा बाउंड्री-रोहित शर्मा (97)भारत
सबसे ज्यादा शतक-कुआंटम डी-कॉक(04)द०अफ्रीका
सबसे ज्यादा अर्धशतक-विराट कोहली(06) भारत

103 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुझ पर इल्जाम लगा सकते हो .... तो लगा लो
मुझ पर इल्जाम लगा सकते हो .... तो लगा लो
हरवंश हृदय
*लफ्ज*
*लफ्ज*
Kumar Vikrant
The Profound Impact of Artificial Intelligence on Human Life
The Profound Impact of Artificial Intelligence on Human Life
Shyam Sundar Subramanian
#आज_की_विनती
#आज_की_विनती
*प्रणय प्रभात*
एक युवक की हत्या से फ़्रांस क्रांति में उलझ गया ,
एक युवक की हत्या से फ़्रांस क्रांति में उलझ गया ,
DrLakshman Jha Parimal
अपने-अपने काम का, पीट रहे सब ढोल।
अपने-अपने काम का, पीट रहे सब ढोल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
अच्छी बात है
अच्छी बात है
Ashwani Kumar Jaiswal
3157.*पूर्णिका*
3157.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एकतरफ़ा इश्क
एकतरफ़ा इश्क
Dipak Kumar "Girja"
मैं बेटी हूँ
मैं बेटी हूँ
लक्ष्मी सिंह
"छिन्दवाड़ा"
Dr. Kishan tandon kranti
वही जो इश्क के अल्फाज़ ना समझ पाया
वही जो इश्क के अल्फाज़ ना समझ पाया
Shweta Soni
बॉलीवुड का क्रैज़ी कमबैक रहा है यह साल - आलेख
बॉलीवुड का क्रैज़ी कमबैक रहा है यह साल - आलेख
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
प्रेम का वक़ात
प्रेम का वक़ात
भरत कुमार सोलंकी
शराफ़त के दायरों की
शराफ़त के दायरों की
Dr fauzia Naseem shad
04/05/2024
04/05/2024
Satyaveer vaishnav
बच्चों के मन भाते सावन(बाल कविता)
बच्चों के मन भाते सावन(बाल कविता)
Ravi Prakash
मैं फकीर ही सही हूं
मैं फकीर ही सही हूं
Umender kumar
मन के भाव
मन के भाव
Surya Barman
सत्यबोध
सत्यबोध
Bodhisatva kastooriya
मैं आत्मनिर्भर बनना चाहती हूं
मैं आत्मनिर्भर बनना चाहती हूं
Neeraj Agarwal
लंगड़ी किरण (यकीन होने लगा था)
लंगड़ी किरण (यकीन होने लगा था)
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
'सफलता' वह मुकाम है, जहाँ अपने गुनाहगारों को भी गले लगाने से
'सफलता' वह मुकाम है, जहाँ अपने गुनाहगारों को भी गले लगाने से
satish rathore
वो सोचते हैं कि उनकी मतलबी दोस्ती के बिना,
वो सोचते हैं कि उनकी मतलबी दोस्ती के बिना,
manjula chauhan
ग्रन्थ
ग्रन्थ
Satish Srijan
पथ नहीं होता सरल
पथ नहीं होता सरल
surenderpal vaidya
यह मत
यह मत
Santosh Shrivastava
की तरह
की तरह
Neelam Sharma
हर कस्बे हर मोड़ पर,
हर कस्बे हर मोड़ पर,
sushil sarna
संवेदनाएं
संवेदनाएं
Dr.Pratibha Prakash
Loading...