Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2017 · 1 min read

वाह ! ये भायी ।

वाह ! ये भायी !!
**************
गर्मी आयी , मन को भायी !
बढ़ जाने पर , हाय बढ़ायी !!
ठंडी आयी , लहरें भायी !
ठंड बढ़ी तो , ठिठुरन गायी !!
बरखा आयी , हरियाली आयी !
बरखा बढ़ी , तो हाय मचायी !!
बसंत आयी, तो मन को भायी !
मन पुलकित हो, हरियाली लायी !!

Language: Hindi
244 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"सोच अपनी अपनी"
Dr Meenu Poonia
💐प्रेम कौतुक-474💐
💐प्रेम कौतुक-474💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"मैं तुम्हारा रहा"
Lohit Tamta
■ आज की बात
■ आज की बात
*Author प्रणय प्रभात*
आओ जाओ मेरी बाहों में,कुछ लम्हों के लिए
आओ जाओ मेरी बाहों में,कुछ लम्हों के लिए
Ram Krishan Rastogi
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – तपोभूमि की यात्रा – 06
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – तपोभूमि की यात्रा – 06
Kirti Aphale
दलदल
दलदल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कुप्रथाएं.......एक सच
कुप्रथाएं.......एक सच
Neeraj Agarwal
Banaras
Banaras
Sahil Ahmad
* सहारा चाहिए *
* सहारा चाहिए *
surenderpal vaidya
जहाँ से आये हो
जहाँ से आये हो
Dr fauzia Naseem shad
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
gurudeenverma198
"मंजर"
Dr. Kishan tandon kranti
दूसरों के अनुभव से लाभ उठाना भी एक अनुभव है। इसमें सत्साहित्
दूसरों के अनुभव से लाभ उठाना भी एक अनुभव है। इसमें सत्साहित्
Dr. Pradeep Kumar Sharma
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
मकसद ......!
मकसद ......!
Sangeeta Beniwal
माँ वो है जिसे
माँ वो है जिसे
shabina. Naaz
अपनी वाणी से :
अपनी वाणी से :
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*जो कुछ तुमने दिया प्रभो, सौ-सौ आभार तुम्हारा(भक्ति-गीत)*
*जो कुछ तुमने दिया प्रभो, सौ-सौ आभार तुम्हारा(भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
*बारिश सी बूंदों सी है प्रेम कहानी*
*बारिश सी बूंदों सी है प्रेम कहानी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
औरों के संग
औरों के संग
Punam Pande
ऋतुराज
ऋतुराज
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मिट्टी के परिधान सब,
मिट्टी के परिधान सब,
sushil sarna
पत्नी की पहचान
पत्नी की पहचान
Pratibha Pandey
शिव मिल शिव बन जाता
शिव मिल शिव बन जाता
Satish Srijan
आदिपुरुष फ़िल्म
आदिपुरुष फ़िल्म
Dr Archana Gupta
उम्मीदें  लगाना  छोड़  दो...
उम्मीदें लगाना छोड़ दो...
Aarti sirsat
2463.पूर्णिका
2463.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ਸ਼ਿਕਵੇ ਉਹ ਵੀ ਕਰਦਾ ਰਿਹਾ
ਸ਼ਿਕਵੇ ਉਹ ਵੀ ਕਰਦਾ ਰਿਹਾ
Surinder blackpen
ऊँचे जिनके कर्म हैं, ऊँची जिनकी साख।
ऊँचे जिनके कर्म हैं, ऊँची जिनकी साख।
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...