Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Feb 2023 · 1 min read

वह ठहर जाएगा ❤️

अगर ऐसा है तो जाने दो ,
यह पतक्षण सा पत्ता
ठहर जाएगा ।

जब वर्षा ऋतु आएगा
जैसे सबका वक्त आता है
यह खुद भी
संभल जाएगा ।

नही हो तुम्हारे बस का
तो थोड़ा साथ देना
शुष्क व ग्रीष्म दिनों में
जैसे दुःखो में अक्सर
दोस्त आते हैं
मजबूत हो जाएगा ।

लड़कर इस समुन्द्र जैसे जीवन मे
वह अपना फल व कीर्ति
समाज व दुसरो को दे जाएगा

बस थोड़ा सा साथ देना
वह ठहर जाएगा ।
– rohit

Language: Hindi
208 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फितरत इंसान की....
फितरत इंसान की....
Tarun Singh Pawar
महत्व
महत्व
Dr. Kishan tandon kranti
क्या छिपा रहे हो
क्या छिपा रहे हो
Ritu Asooja
सदा के लिए
सदा के लिए
Saraswati Bajpai
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
मेरी हस्ती
मेरी हस्ती
Shyam Sundar Subramanian
दर्द ना अश्कों का है ना ही किसी घाव का है.!
दर्द ना अश्कों का है ना ही किसी घाव का है.!
शेखर सिंह
माना अपनी पहुंच नहीं है
माना अपनी पहुंच नहीं है
महेश चन्द्र त्रिपाठी
कर ले प्यार हरि से
कर ले प्यार हरि से
Satish Srijan
कुछ फूल तो कुछ शूल पाते हैँ
कुछ फूल तो कुछ शूल पाते हैँ
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जन-मन की भाषा हिन्दी
जन-मन की भाषा हिन्दी
Seema Garg
अपनी सीरत को
अपनी सीरत को
Dr fauzia Naseem shad
अरदास मेरी वो
अरदास मेरी वो
Mamta Rani
हे दिल तू मत कर प्यार किसी से
हे दिल तू मत कर प्यार किसी से
gurudeenverma198
तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल
तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल
Rashmi Ranjan
#मंगलकामनाएं
#मंगलकामनाएं
*Author प्रणय प्रभात*
मिथ्या इस  संसार में,  अर्थहीन  सम्बंध।
मिथ्या इस संसार में, अर्थहीन सम्बंध।
sushil sarna
जिंदगी के कुछ चैप्टर ऐसे होते हैं,
जिंदगी के कुछ चैप्टर ऐसे होते हैं,
Vishal babu (vishu)
समझ मत मील भर का ही, सृजन संसार मेरा है ।
समझ मत मील भर का ही, सृजन संसार मेरा है ।
Ashok deep
Tu Mainu pyaar de
Tu Mainu pyaar de
Swami Ganganiya
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कठिनाई  को पार करते,
कठिनाई को पार करते,
manisha
गीत-14-15
गीत-14-15
Dr. Sunita Singh
बघेली कविता -
बघेली कविता -
Priyanshu Kushwaha
प्यार जिंदगी का
प्यार जिंदगी का
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
प्रीत निभाना
प्रीत निभाना
Pratibha Pandey
हँसते गाते हुए
हँसते गाते हुए
Shweta Soni
जिसका इन्तजार हो उसका दीदार हो जाए,
जिसका इन्तजार हो उसका दीदार हो जाए,
डी. के. निवातिया
2612.पूर्णिका
2612.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अब तो उठ जाओ, जगाने वाले आए हैं।
अब तो उठ जाओ, जगाने वाले आए हैं।
नेताम आर सी
Loading...