Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Dec 2023 · 1 min read

वन उपवन हरित खेत क्यारी में

वन उपवन हरित खेत क्यारी में
वर्फ चांदी सी सरताज हिमालय
चरण परवारते नद्य सागर का
प्रत्यक्षी एक गवाह हुं मैं तिरंगा
स्वर्णिम इतिहास शहीदों का
चिल्लाते भागते ओ !माय गॉड
कायर फिरंगी सात समंदर पार का
गौरे के चूर चूर हो गए घमण्ड
ये एक पहेली नहीं हकीकत है
एक दिन ब्रिटिश ने छीनीं थी होली
दीवाली पर माथा टेक रहा आज
मेरे घर आंगन जो भारत ने प्रत्यक्ष
देखा है G20 शिखर सम्मेलन में
टी.पी तरुण

116 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-352💐
💐प्रेम कौतुक-352💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सामाजिक कविता: बर्फ पिघलती है तो पिघल जाने दो,
सामाजिक कविता: बर्फ पिघलती है तो पिघल जाने दो,
Rajesh Kumar Arjun
बुढ़ापे में हड्डियाँ सूखा पतला
बुढ़ापे में हड्डियाँ सूखा पतला
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
आस पड़ोस का सब जानता है..
आस पड़ोस का सब जानता है..
कवि दीपक बवेजा
🌹पत्नी🌹
🌹पत्नी🌹
Dr Shweta sood
23/176.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/176.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
होली -रमजान ,दीवाली
होली -रमजान ,दीवाली
DrLakshman Jha Parimal
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
Sanjay ' शून्य'
मैं तुम्हें लिखता रहूंगा
मैं तुम्हें लिखता रहूंगा
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*मैं बच्चों की तरह हर रोज, सारे काम करता हूँ (हिंदी गजल/गीति
*मैं बच्चों की तरह हर रोज, सारे काम करता हूँ (हिंदी गजल/गीति
Ravi Prakash
जो कहना है खुल के कह दे....
जो कहना है खुल के कह दे....
Shubham Pandey (S P)
मुझसे देखी न गई तकलीफ़,
मुझसे देखी न गई तकलीफ़,
पूर्वार्थ
जानते वो भी हैं...!!
जानते वो भी हैं...!!
Kanchan Khanna
जिनका हम जिक्र तक नहीं करते हैं
जिनका हम जिक्र तक नहीं करते हैं
ruby kumari
_______ सुविचार ________
_______ सुविचार ________
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
gurudeenverma198
*** तूने क्या-क्या चुराया ***
*** तूने क्या-क्या चुराया ***
Chunnu Lal Gupta
■ कृतज्ञ राष्ट्र...
■ कृतज्ञ राष्ट्र...
*Author प्रणय प्रभात*
"धोखा"
Dr. Kishan tandon kranti
खुद पर ही
खुद पर ही
Dr fauzia Naseem shad
अंतिम सत्य
अंतिम सत्य
विजय कुमार अग्रवाल
जवानी
जवानी
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
*हमारे कन्हैया*
*हमारे कन्हैया*
Dr. Vaishali Verma
नया सवेरा
नया सवेरा
नन्दलाल सुथार "राही"
कविता :- दुःख तो बहुत है मगर.. (विश्व कप क्रिकेट में पराजय पर)
कविता :- दुःख तो बहुत है मगर.. (विश्व कप क्रिकेट में पराजय पर)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मेरी (उनतालीस) कविताएं
मेरी (उनतालीस) कविताएं
श्याम सिंह बिष्ट
अपनी क्षमता का पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना ही इस दुनिया में सब
अपनी क्षमता का पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना ही इस दुनिया में सब
Paras Nath Jha
शब्द से शब्द टकराए तो बन जाए कोई बात ,
शब्द से शब्द टकराए तो बन जाए कोई बात ,
ज्योति
Moti ki bhi ajib kahani se , jisne bnaya isko uska koi mole
Moti ki bhi ajib kahani se , jisne bnaya isko uska koi mole
Sakshi Tripathi
समय देकर तो देखो
समय देकर तो देखो
Shriyansh Gupta
Loading...