Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Apr 2024 · 1 min read

लिखा नहीं था नसीब में, अपना मिलन

लिखा नहीं था नसीब में, अपना मिलन।
ओ मेरे यार, ओ मेरे यार।।
फिर भी मिटेगा नहीं, यह प्यार दिल से।
ओ मेरे यार, ओ मेरे यार।।
लिखा नहीं था नसीब में——————-।।

चाहा था मैंने तो, तू मेरे साथ हो।
हरदम तेरा हाथ, मेरे हाथ हो।।
टूटे नहीं कभी हमारा रिश्ता और साथ।
ओ मेरे यार, ओ मेरे यार।।
लिखा नहीं था नसीब में——————-।।

पूछता था रोज मैं, इन बहारों से।
आने की तेरी खबर, इन सितारों से।।
रोक दी है राह अपनी, क्यों इन पहाड़ों ने।
ओ मेरे यार, ओ मेरे यार।।
लिखा नहीं था नसीब में——————-।।

रहना तू हमेशा खुश, जहाँ भी रहे तू ।
याद हमारी ही तरहां, करना हमें याद तू ।।
चाहा अगर खुदा ने तो, हम मिलेंगे कभी।
ओ मेरे यार, ओ मेरे यार।।
लिखा नहीं था नसीब में——————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार
गुरुदीन वर्मा उर्फ़ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
65 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*श्रीराम*
*श्रीराम*
Dr. Priya Gupta
"चाह"
Dr. Kishan tandon kranti
हर राह सफर की।
हर राह सफर की।
Taj Mohammad
महाराष्ट्र में शरद पवार और अजित पवार, बिहार में नीतीश कुमार
महाराष्ट्र में शरद पवार और अजित पवार, बिहार में नीतीश कुमार
*प्रणय प्रभात*
माँ
माँ
SHAMA PARVEEN
-- अंधभक्ति का चैम्पियन --
-- अंधभक्ति का चैम्पियन --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
किसान
किसान
Dp Gangwar
गणेश जी पर केंद्रित विशेष दोहे
गणेश जी पर केंद्रित विशेष दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
यूँ ही नही लुभाता,
यूँ ही नही लुभाता,
हिमांशु Kulshrestha
कभी-कभी
कभी-कभी
Sûrëkhâ
सज गई अयोध्या
सज गई अयोध्या
Kumud Srivastava
अकेलापन
अकेलापन
Shashi Mahajan
अंतिम इच्छा
अंतिम इच्छा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जो समय सम्मुख हमारे आज है।
जो समय सम्मुख हमारे आज है।
surenderpal vaidya
क्या सीत्कार से पैदा हुए चीत्कार का नाम हिंदीग़ज़ल है?
क्या सीत्कार से पैदा हुए चीत्कार का नाम हिंदीग़ज़ल है?
कवि रमेशराज
🐍भुजंगी छंद🐍 विधान~ [यगण यगण यगण+लघु गुरु] ( 122 122 122 12 11वर्ण,,4 चरण दो-दो चरण समतुकांत]
🐍भुजंगी छंद🐍 विधान~ [यगण यगण यगण+लघु गुरु] ( 122 122 122 12 11वर्ण,,4 चरण दो-दो चरण समतुकांत]
Neelam Sharma
महानगर की जिंदगी और प्राकृतिक परिवेश
महानगर की जिंदगी और प्राकृतिक परिवेश
कार्तिक नितिन शर्मा
सफलता
सफलता
Babli Jha
सहधर्मनी
सहधर्मनी
Bodhisatva kastooriya
हाथों की लकीरों तक
हाथों की लकीरों तक
Dr fauzia Naseem shad
नजरिया
नजरिया
नेताम आर सी
कौन उठाये मेरी नाकामयाबी का जिम्मा..!!
कौन उठाये मेरी नाकामयाबी का जिम्मा..!!
Ravi Betulwala
वातायन के खोलती,
वातायन के खोलती,
sushil sarna
मैं हूँ कौन ? मुझे बता दो🙏
मैं हूँ कौन ? मुझे बता दो🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बाल कविता: मोर
बाल कविता: मोर
Rajesh Kumar Arjun
कौन है जिम्मेदार?
कौन है जिम्मेदार?
Pratibha Pandey
#ekabodhbalak
#ekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कुछ लोग जाहिर नहीं करते
कुछ लोग जाहिर नहीं करते
शेखर सिंह
बॉर्डर पर जवान खड़ा है।
बॉर्डर पर जवान खड़ा है।
Kuldeep mishra (KD)
🍁
🍁
Amulyaa Ratan
Loading...