Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2023 · 1 min read

” लहर लहर लहराई तिरंगा “

लहर लहर लहराई तिरंगा,देशवा में शान से
आंख उठाके जे भी देखी जाई अपना जान से

देख फिरंगी डेरा के भगलंऽ
जन जन के अभियान के
बच्चे बुढे जवां जोश
महिलाओं के बलिदान के

सोन चिरैया कहेला लोगवा,प्यारा हऊए प्राण से
आंख उठाके जे भी देखी जाई अपना जान से

भगत, आज़ाद, सुभाष, शिवाजी
देश के अभिमान के
लक्ष्मी, जीजा, पुतलीबाई
शौर्य और स्वाभिमान के

राम कृष्ण क हवे ई नगरी,भरल हऊए ज्ञान से
आंख उठाके जे भी देखी जाई अपना जान से

डंका बजा रहल दुनिया में
इसरो के अभियान के
बालाकोट में सब केहू देखलस
बदलल हिन्दुस्तान के

अहिंसा के परम पुजारी, गांधी जी के शान से
आंख उठाके जे भी देखी जाई अपना जान से

सत् सत् बार नमन हे वीरों
तुम पर नाज़ ज़हान के
कवि “चुन्नू”जी कलम से लिखलें
गाथा देश महान के

हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई,रहेलऽ सम्मान से
आंख उठाके जे भी देखी जाई अपना जान से

•••• कलमकार ••••
चुन्नू लाल गुप्ता-मऊ (उ.प्र.)

647 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
विषय:- विजयी इतिहास हमारा।
विषय:- विजयी इतिहास हमारा।
Neelam Sharma
समझ ना आया
समझ ना आया
Dinesh Kumar Gangwar
23/18.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/18.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जब तुम उसको नहीं पसन्द तो
जब तुम उसको नहीं पसन्द तो
gurudeenverma198
अपने-अपने संस्कार
अपने-अपने संस्कार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नाथ मुझे अपनाइए,तुम ही प्राण आधार
नाथ मुझे अपनाइए,तुम ही प्राण आधार
कृष्णकांत गुर्जर
मतदान
मतदान
Dr Archana Gupta
एक समय वो था
एक समय वो था
Dr.Rashmi Mishra
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
जिंदगी में अपने मैं होकर चिंतामुक्त मौज करता हूं।
जिंदगी में अपने मैं होकर चिंतामुक्त मौज करता हूं।
Rj Anand Prajapati
मैं तेरा कृष्णा हो जाऊं
मैं तेरा कृष्णा हो जाऊं
bhandari lokesh
तूफान आया और
तूफान आया और
Dr Manju Saini
लोकतंत्र का मंदिर
लोकतंत्र का मंदिर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ऐ वसुत्व अर्ज किया है....
ऐ वसुत्व अर्ज किया है....
प्रेमदास वसु सुरेखा
स्याह एक रात
स्याह एक रात
हिमांशु Kulshrestha
विद्यापति धाम
विद्यापति धाम
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
" सितारे "
Dr. Kishan tandon kranti
बिन बोले ही  प्यार में,
बिन बोले ही प्यार में,
sushil sarna
मिलना हम मिलने आएंगे होली में।
मिलना हम मिलने आएंगे होली में।
सत्य कुमार प्रेमी
दरमियाँ
दरमियाँ
Dr. Rajeev Jain
नव वर्ष मंगलमय हो
नव वर्ष मंगलमय हो
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*** तूने क्या-क्या चुराया ***
*** तूने क्या-क्या चुराया ***
Chunnu Lal Gupta
*रात से दोस्ती* ( 9 of 25)
*रात से दोस्ती* ( 9 of 25)
Kshma Urmila
लक्ष्य एक होता है,
लक्ष्य एक होता है,
नेताम आर सी
खवाब है तेरे तु उनको सजालें
खवाब है तेरे तु उनको सजालें
Swami Ganganiya
कई महीने साल गुजर जाते आँखों मे नींद नही होती,
कई महीने साल गुजर जाते आँखों मे नींद नही होती,
Shubham Anand Manmeet
"बारिश की बूंदें" (Raindrops)
Sidhartha Mishra
माँ
माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
A Picture Taken Long Ago!
A Picture Taken Long Ago!
R. H. SRIDEVI
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
Rituraj shivem verma
Loading...