Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Apr 2023 · 1 min read

लज्जा

मेरे देश के मज़दूर
मेरे मुल्क के किसान!
आख़िर क्यों इतने मजबूर
आखिर क्यों इतने परेशान!
कितने ज़्यादा बेरहम हैं
हमारे चुने हुए हुक़्मरान!
मैं सोचकर शर्मिंदा हूं
मैं देखकर हूं पशेमान!
#विपक्ष #राजनीति #सरकार
#सत्ता #श्रमिक #गरीब
#हकमारी #महंगाई #बेरोजगारी
#चिकित्सा #शोषण #जुल्म

Language: Hindi
175 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ना आप.. ना मैं...
ना आप.. ना मैं...
'अशांत' शेखर
** चीड़ के प्रसून **
** चीड़ के प्रसून **
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
गणेश जी का हैप्पी बर्थ डे
गणेश जी का हैप्पी बर्थ डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्रभु राम नाम का अवलंब
प्रभु राम नाम का अवलंब
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चंद्रयान
चंद्रयान
Mukesh Kumar Sonkar
खेल सारा वक्त का है _
खेल सारा वक्त का है _
Rajesh vyas
मैं उसे पसन्द करता हूं तो जरुरी नहीं कि वो भी मुझे पसन्द करे
मैं उसे पसन्द करता हूं तो जरुरी नहीं कि वो भी मुझे पसन्द करे
Keshav kishor Kumar
वही पर्याप्त है
वही पर्याप्त है
Satish Srijan
25-बढ़ रही है रोज़ महँगाई किसे आवाज़ दूँ
25-बढ़ रही है रोज़ महँगाई किसे आवाज़ दूँ
Ajay Kumar Vimal
श्यामपट
श्यामपट
Dr. Kishan tandon kranti
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
बहुत हैं!
बहुत हैं!
Srishty Bansal
मेरा लड्डू गोपाल
मेरा लड्डू गोपाल
MEENU
*नुक्कड़ की चाय*
*नुक्कड़ की चाय*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Sometimes a thought comes
Sometimes a thought comes
Bidyadhar Mantry
Tu Mainu pyaar de
Tu Mainu pyaar de
Swami Ganganiya
*छ्त्तीसगढ़ी गीत*
*छ्त्तीसगढ़ी गीत*
Dr.Khedu Bharti
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
खत पढ़कर तू अपने वतन का
खत पढ़कर तू अपने वतन का
gurudeenverma198
33 लयात्मक हाइकु
33 लयात्मक हाइकु
कवि रमेशराज
श्रीराम अयोध्या में पुनर्स्थापित हो रहे हैं, क्या खोई हुई मर
श्रीराम अयोध्या में पुनर्स्थापित हो रहे हैं, क्या खोई हुई मर
Sanjay ' शून्य'
संभावना है जीवन, संभावना बड़ी है
संभावना है जीवन, संभावना बड़ी है
Suryakant Dwivedi
हर एक रास्ते की तकल्लुफ कौन देता है..........
हर एक रास्ते की तकल्लुफ कौन देता है..........
कवि दीपक बवेजा
खामोश रहना ही जिंदगी के
खामोश रहना ही जिंदगी के
ओनिका सेतिया 'अनु '
* मैं बिटिया हूँ *
* मैं बिटिया हूँ *
Mukta Rashmi
वक्त नहीं
वक्त नहीं
Vandna Thakur
दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज नींद है ,जो इंसान के कुछ समय के ल
दुनिया की सबसे खूबसूरत चीज नींद है ,जो इंसान के कुछ समय के ल
Ranjeet kumar patre
*****वो इक पल*****
*****वो इक पल*****
Kavita Chouhan
हिंदी सबसे प्यारा है
हिंदी सबसे प्यारा है
शेख रहमत अली "बस्तवी"
सुख भी बाँटा है
सुख भी बाँटा है
Shweta Soni
Loading...