Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Apr 2018 · 1 min read

लघुकथा: नकल जिंदाबाद..

“आज का पेपर कैसा हुआ बेटी?” चाय का प्याला हाथ में लेते हुए गजेन्द्र ने निकिता से पूछा | “गज़ब का पापा”, निकिता ने खुश होते हुए कहा….. आश्चर्यचकित होते हुए गजेन्द्र ने पुनः कहा, “लेकिन तुम्हारी तैयारी तो अच्छी थी नहीं और अब तो इस सरकार में कैमरे भी लगा दिए गए हैं” यह सुनकर निकिता बोली, “एकदम सही पापा ….वे कैमरे देख तो सब रहे हैं पर सुन तो नहीं रहे ….हमारे टीचर उनकी ओर अपनी पीठ करके खड़े हो जाते हैं या फिर बाहर गैलरी की खिड़की से जहाँ कैमरे नहीं देख पाते, वहीं से बोलकर हमारा सारा पेपर हल करा देते हैं”, “भगवान का लाख-लाख शुक्र हैं उन कैमरों में आडियो रिकार्डिंग की सुविधा नहीं है वरना न जाने क्या होता… लेकिन फ़्लाइंग स्क्वाड से वे सब बच कैसे जाते हैं? पापा ने अत्यंत आश्चर्य से पूछा.., निकिता ने पुनः कहा…”अपने मैनेजर साहब की सेटिंग नीचे से बहुत ऊपर तक है न…. उन तक उसके आने की खबर पहले ही पहुँच जाती है” यह सुनकर प्रमुदित हुए गजेन्द्र के मुख से अनायास ही निकल पड़ा, “नकल जिंदाबाद…., ”

–इंजी० अम्बरीष श्रीवास्तव ‘अम्बर’

Language: Hindi
442 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक जिद मन में पाल रखी है,कि अपना नाम बनाना है
एक जिद मन में पाल रखी है,कि अपना नाम बनाना है
पूर्वार्थ
-शेखर सिंह ✍️
-शेखर सिंह ✍️
शेखर सिंह
मुस्कान
मुस्कान
Santosh Shrivastava
एक तो गोरे-गोरे हाथ,
एक तो गोरे-गोरे हाथ,
SURYA PRAKASH SHARMA
अपनी इबादत पर गुरूर मत करना.......
अपनी इबादत पर गुरूर मत करना.......
shabina. Naaz
हे चाणक्य चले आओ
हे चाणक्य चले आओ
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
जिस सनातन छत्र ने, किया दुष्टों को माप
जिस सनातन छत्र ने, किया दुष्टों को माप
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कीजै अनदेखा अहम,
कीजै अनदेखा अहम,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दोनों की सादगी देख कर ऐसा नज़र आता है जैसे,
दोनों की सादगी देख कर ऐसा नज़र आता है जैसे,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
2989.*पूर्णिका*
2989.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नूतन सद्आचार मिल गया
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"खुद के खिलाफ़"
Dr. Kishan tandon kranti
"प्रकृति गीत"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
■ आज का खुलासा...!!
■ आज का खुलासा...!!
*प्रणय प्रभात*
इस दुनिया में कोई भी मजबूर नहीं होता बस अपने आदतों से बाज़ आ
इस दुनिया में कोई भी मजबूर नहीं होता बस अपने आदतों से बाज़ आ
Rj Anand Prajapati
Still I Rise!
Still I Rise!
R. H. SRIDEVI
बुझे अलाव की
बुझे अलाव की
Atul "Krishn"
घड़ी घड़ी में घड़ी न देखें, करें कर्म से अपने प्यार।
घड़ी घड़ी में घड़ी न देखें, करें कर्म से अपने प्यार।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
*** तस्वीर....!!! ***
*** तस्वीर....!!! ***
VEDANTA PATEL
दस्त बदरिया (हास्य-विनोद)
दस्त बदरिया (हास्य-विनोद)
गुमनाम 'बाबा'
*फागुन का बस नाम है, असली चैत महान (कुंडलिया)*
*फागुन का बस नाम है, असली चैत महान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मेले
मेले
Punam Pande
आदमी क्यों  खाने लगा हराम का
आदमी क्यों खाने लगा हराम का
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
says wrong to wrong
says wrong to wrong
Satish Srijan
एक दिन मजदूरी को, देते हो खैरात।
एक दिन मजदूरी को, देते हो खैरात।
Manoj Mahato
साक्षात्कार- पीयूष गोयल लेखक
साक्षात्कार- पीयूष गोयल लेखक
Piyush Goel
विषय तरंग
विषय तरंग
DR ARUN KUMAR SHASTRI
★भारतीय किसान★
★भारतीय किसान★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
"तुम तो बस अब गरजो"
Ajit Kumar "Karn"
بدلتا ہے
بدلتا ہے
Dr fauzia Naseem shad
Loading...