Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Feb 2023 · 1 min read

*रोज-डे वेलेंटाइन वीक(कुंडलिया)*

रोज-डे वेलेंटाइन वीक(कुंडलिया)
________________________________
सात फरवरी से शुरू , वेलेंटाइन-वीक
खुशबूदार गुलाब से , शुरू हुआ यह ठीक
शुरू हुआ यह ठीक, रोज-डे लगता प्यारा
देकर गिफ्ट गुलाब , जीत जाएगा हारा
कहते रवि कविराय ,नहीं अब माह जनवरी
मौसम है कुछ और , मस्त है सात फरवरी
________________________________
रोज-डे = गुलाब-दिवस
गिफ्ट ≠ उपहार
वीक = सप्ताह
—————————————————-
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश )
मोबाइल 99 97 61 5451

204 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
★किसान ★
★किसान ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
समाज मे अविवाहित स्त्रियों को शिक्षा की आवश्यकता है ना कि उप
समाज मे अविवाहित स्त्रियों को शिक्षा की आवश्यकता है ना कि उप
शेखर सिंह
काश वो होते मेरे अंगना में
काश वो होते मेरे अंगना में
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
"गुनाह कुबूल गए"
Dr. Kishan tandon kranti
मां
मां
Monika Verma
Teacher
Teacher
Rajan Sharma
वैज्ञानिक युग और धर्म का बोलबाला/ आनंद प्रवीण
वैज्ञानिक युग और धर्म का बोलबाला/ आनंद प्रवीण
आनंद प्रवीण
विक्रमादित्य के बत्तीस गुण
विक्रमादित्य के बत्तीस गुण
Vijay Nagar
जै जै जै गण पति गण नायक शुभ कर्मों के देव विनायक जै जै जै गण
जै जै जै गण पति गण नायक शुभ कर्मों के देव विनायक जै जै जै गण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
3317.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3317.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
चश्मा साफ़ करते हुए उस बुज़ुर्ग ने अपनी पत्नी से कहा :- हमार
चश्मा साफ़ करते हुए उस बुज़ुर्ग ने अपनी पत्नी से कहा :- हमार
Rituraj shivem verma
कान्हा प्रीति बँध चली,
कान्हा प्रीति बँध चली,
Neelam Sharma
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Aruna Dogra Sharma
शिक्षक
शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
" वो क़ैद के ज़माने "
Chunnu Lal Gupta
मोहब्बत।
मोहब्बत।
Taj Mohammad
देख इंसान कहाँ खड़ा है तू
देख इंसान कहाँ खड़ा है तू
Adha Deshwal
फूलों सा महकना है
फूलों सा महकना है
Sonam Puneet Dubey
निश्छल प्रेम के बदले वंचना
निश्छल प्रेम के बदले वंचना
Koमल कुmari
" अकाल्पनिक मनोस्थिति "
Dr Meenu Poonia
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
Ravi Prakash
प्रेम नि: शुल्क होते हुए भी
प्रेम नि: शुल्क होते हुए भी
प्रेमदास वसु सुरेखा
"पहले मुझे लगता था कि मैं बिका नही इसलिए सस्ता हूँ
गुमनाम 'बाबा'
बेशक प्यार उनसे बेपनाह था......
बेशक प्यार उनसे बेपनाह था......
रुचि शर्मा
क्रिकेट का पिच,
क्रिकेट का पिच,
Punam Pande
युवा दिवस
युवा दिवस
Tushar Jagawat
#एड्स_दिवस_पर_विशेष :-
#एड्स_दिवस_पर_विशेष :-
*प्रणय प्रभात*
अपना ही ख़ैर करने लगती है जिन्दगी;
अपना ही ख़ैर करने लगती है जिन्दगी;
manjula chauhan
चलो प्रिये तुमको मैं संगीत के क्षण ले चलूं....!
चलो प्रिये तुमको मैं संगीत के क्षण ले चलूं....!
singh kunwar sarvendra vikram
शुम प्रभात मित्रो !
शुम प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
Loading...