Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Sep 2022 · 1 min read

रूठे रूठे से हुजूर

रूठे रूठे से हुजूर यूँ चले जाते हैं

क्या पता क्या खता हुई है हमसे
न वो बताते हैं न हम जान पाते हैं

सामने रहकर भी वो करते नहीं
जाओ करीब तो खुद चले जाते हैं

ये खामोशी है कैसी बतलाते नहीं
चुप रहते हैं मगर बहुत तड़पाते हैं

कैसे समझें ‘विनोद’ हम उनको
न हाल-ए-दिल सुनते न सुनाते हैं

स्वरचित
( विनोद चौहान )

4 Likes · 311 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VINOD CHAUHAN
View all
You may also like:
खुशी की तलाश
खुशी की तलाश
Sandeep Pande
क्या पता है तुम्हें
क्या पता है तुम्हें
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तुझे नेकियों के मुँह से
तुझे नेकियों के मुँह से
Shweta Soni
आदि ब्रह्म है राम
आदि ब्रह्म है राम
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
नहीं चाहता मैं किसी को साथी अपना बनाना
नहीं चाहता मैं किसी को साथी अपना बनाना
gurudeenverma198
💐प्रेम कौतुक-403💐
💐प्रेम कौतुक-403💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सागर से दूरी धरो,
सागर से दूरी धरो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जय श्री राम
जय श्री राम
Er.Navaneet R Shandily
बोलने से सब होता है
बोलने से सब होता है
Satish Srijan
* ऋतुराज *
* ऋतुराज *
surenderpal vaidya
दर्द का दरिया
दर्द का दरिया
Bodhisatva kastooriya
2826. *पूर्णिका*
2826. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जय मां ँँशारदे 🙏
जय मां ँँशारदे 🙏
Neelam Sharma
दोजख से वास्ता है हर इक आदमी का
दोजख से वास्ता है हर इक आदमी का
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जीवन साथी
जीवन साथी
Aman Sinha
So, blessed by you , mom
So, blessed by you , mom
Rajan Sharma
यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते
यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते
Prakash Chandra
एक मन
एक मन
Dr.Priya Soni Khare
"पनाहों में"
Dr. Kishan tandon kranti
वो जो ख़ामोश
वो जो ख़ामोश
Dr fauzia Naseem shad
तितली रानी
तितली रानी
Vishnu Prasad 'panchotiya'
*हनुमान जी*
*हनुमान जी*
Shashi kala vyas
गले लगा लेना
गले लगा लेना
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
नफरते का दौर . .में
नफरते का दौर . .में
shabina. Naaz
#उपमा
#उपमा
*Author प्रणय प्रभात*
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में.
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में.
कवि दीपक बवेजा
शर्म
शर्म
परमार प्रकाश
प्रत्याशी को जाँचकर , देना  अपना  वोट
प्रत्याशी को जाँचकर , देना अपना वोट
Dr Archana Gupta
माँ का प्यार है अनमोल
माँ का प्यार है अनमोल
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
*आओ मिलकर नया साल मनाएं*
*आओ मिलकर नया साल मनाएं*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...