Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Dec 2022 · 1 min read

रविवार

दिन छुट्टी का रवी वार को होता है न !
इसीलिए उसने इक दिन की छुट्टी ली है।

जाते-जाते सिरहाने इक बाम की डिबिया छोड़ गया है।
‘आज उसे आवाज़ न दूँ मैं’ ये कहकर मुँह मोड़ गया है।
बोल गया है बाद आज के, मुझसे हाल नहीं पूछेगा।
मैंने खाया या भूखी हूँ, एक सवाल नहीं पूछेगा।

मन भी आखिर अधिक प्यार से थकता है न !
इसीलिए उसने इक दिन की छुट्टी ली है।

उसने नहीं कहा है लेकिन, मुझको सारी बात पता है।
मुझसे रूठ गया है थोड़ा सा वो पिछली रात, पता है।
मैं ही दोषी उसकी, खुद की, कुछ भी नहीं संभाला जाता।
इतना भी मैं समझ न पाई, दर्पण नहीं उछाला जाता।

प्यार दूरियों में ही अक्सर बढ़ता है न!
इसीलिए उसने इक दिन की छुट्टी ली है।

तुम होते हो तो दुनिया में तितली जैसे उड़ लेती हूँ।
सपनों को पंखों में भरके, आसमान से लड़ लेती हूँ।
तुम्हें बताना है कि तुम बिन दिन कितना खाली लगता है।
तुम बिन खुद का होना जैसे, मुझको इक गाली लगता है।

ऐसा सुनना, सबको अच्छा लगता है न!
इसीलिए उसने इक दिन की छुट्टी ली है।
© शिवा अवस्थी

Language: Hindi
Tag: गीत
4 Likes · 149 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*** अंकुर और अंकुरित मन.....!!! ***
*** अंकुर और अंकुरित मन.....!!! ***
VEDANTA PATEL
प्रेम की चाहा
प्रेम की चाहा
RAKESH RAKESH
"देश भक्ति गीत"
Slok maurya "umang"
मात्र एक पल
मात्र एक पल
Ajay Mishra
💐प्रेम कौतुक-435💐
💐प्रेम कौतुक-435💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
Dr Nisha nandini Bhartiya
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
*🌹जिसने दी है जिंदगी उसका*
*🌹जिसने दी है जिंदगी उसका*
Manoj Kushwaha PS
World Tobacco Prohibition Day
World Tobacco Prohibition Day
Tushar Jagawat
आब-ओ-हवा
आब-ओ-हवा
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
अब हार भी हारेगा।
अब हार भी हारेगा।
Chaurasia Kundan
समझना है ज़रूरी
समझना है ज़रूरी
Dr fauzia Naseem shad
*केले खाता बंदर (बाल कविता)*
*केले खाता बंदर (बाल कविता)*
Ravi Prakash
कला
कला
मनोज कर्ण
■ सरस्वती वंदना (छंद शैली)
■ सरस्वती वंदना (छंद शैली)
*Author प्रणय प्रभात*
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ruby kumari
श्री राम अयोध्या आए है
श्री राम अयोध्या आए है
जगदीश लववंशी
2806. *पूर्णिका*
2806. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जीवन का एक और बसंत
जीवन का एक और बसंत
नवीन जोशी 'नवल'
हायकू
हायकू
Ajay Chakwate *अजेय*
हिन्दी ग़ज़लः सवाल सार्थकता का? +रमेशराज
हिन्दी ग़ज़लः सवाल सार्थकता का? +रमेशराज
कवि रमेशराज
अनंत करुणा प्रेम की मुलाकात
अनंत करुणा प्रेम की मुलाकात
Buddha Prakash
मैं असफल और नाकाम रहा!
मैं असफल और नाकाम रहा!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
माँ!
माँ!
विमला महरिया मौज
संघर्ष
संघर्ष
Sushil chauhan
भारत का सर्वोच्च न्यायालय
भारत का सर्वोच्च न्यायालय
Shekhar Chandra Mitra
करगिल के वीर
करगिल के वीर
Shaily
चंद एहसासात
चंद एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
प्रेम उतना ही करो जिसमे हृदय खुश रहे
प्रेम उतना ही करो जिसमे हृदय खुश रहे
पूर्वार्थ
भले ही भारतीय मानवता पार्टी हमने बनाया है और इसका संस्थापक स
भले ही भारतीय मानवता पार्टी हमने बनाया है और इसका संस्थापक स
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...