Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jan 2024 · 1 min read

राम को कैसे जाना जा सकता है।

राम को कैसे जाना जा सकता है।

मात पिता की आज्ञा मानी, पितृ धर्म को निभाया।
वनवास में जाकर उन्होंने, सबके कष्ट को मिटाया।
हनुमान को सेवा से खुश होकर,
हनुमान को संकमोचन बनाया।
रावण को मारकर ही, धर्ममय को जग में बनाया।
14 वर्ष वनवास पाकर ही,
श्री राम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम बन पाएं।

1 Like · 1 Comment · 74 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हारता वो है जो शिकायत
हारता वो है जो शिकायत
नेताम आर सी
तुझमें वह कशिश है
तुझमें वह कशिश है
gurudeenverma198
मेरा ब्लॉग अपडेट दिनांक 2 अक्टूबर 2023
मेरा ब्लॉग अपडेट दिनांक 2 अक्टूबर 2023
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Ye chad adhura lagta hai,
Ye chad adhura lagta hai,
Sakshi Tripathi
"आग्रह"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
होली
होली
Dr. Kishan Karigar
Help Each Other
Help Each Other
Dhriti Mishra
मोहब्बत
मोहब्बत
Shriyansh Gupta
अलाव
अलाव
गुप्तरत्न
ना सातवें आसमान तक
ना सातवें आसमान तक
Vivek Mishra
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका  आकार बदल  जाता ह
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका आकार बदल जाता ह
Jitendra kumar
मुस्कुराना जरूरी है
मुस्कुराना जरूरी है
Mamta Rani
सुरमाई अंखियाँ नशा बढ़ाए
सुरमाई अंखियाँ नशा बढ़ाए
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
हवा में हाथ
हवा में हाथ
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
स्वयं का बैरी
स्वयं का बैरी
Dr fauzia Naseem shad
*** कृष्ण रंग ही : प्रेम रंग....!!! ***
*** कृष्ण रंग ही : प्रेम रंग....!!! ***
VEDANTA PATEL
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मां आई
मां आई
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
विज्ञापन
विज्ञापन
Dr. Kishan tandon kranti
🌷🌷  *
🌷🌷 *"स्कंदमाता"*🌷🌷
Shashi kala vyas
*बड़ मावसयह कह रहा ,बरगद वृक्ष महान ( कुंडलिया )*
*बड़ मावसयह कह रहा ,बरगद वृक्ष महान ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समस्त नारी शक्ति को सादर
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समस्त नारी शक्ति को सादर
*Author प्रणय प्रभात*
देवतुल्य है भाई मेरा
देवतुल्य है भाई मेरा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
What is FAMILY?
What is FAMILY?
पूर्वार्थ
"मेरे तो प्रभु श्रीराम पधारें"
राकेश चौरसिया
ईद मुबारक
ईद मुबारक
Satish Srijan
अपना घर
अपना घर
ओंकार मिश्र
“जगत जननी: नारी”
“जगत जननी: नारी”
Swara Kumari arya
23/61.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/61.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...