Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

राम की राजनीति

राजनीति के राम को, मिला बाण का संग I
ऊँची सोच से पहले, दोनों ही थे तंग II
दोनों ही थे तंग, बड़े पद की थी चाहत I
जनता के दांव से, दोनों हुए थे आहत II
कहें विजय कविराय, राज की तंग नीति I
राम के आदर्श भूल, हो राम की राजनीति II

138 Views
You may also like:
कैसी है ये पीर पराई
VINOD KUMAR CHAUHAN
*जिंदगी को वह गढ़ेंगे ,जो प्रलय को रोकते हैं*( गीत...
Ravi Prakash
*श्री प्रदीप कुमार बंसल उर्फ मुन्ना बंसल की याद*
Ravi Prakash
“ मेरे राम ”
DESH RAJ
कायनात के जर्रे जर्रे में।
Taj Mohammad
कोमल हृदय - नारी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सास-बहू
Rashmi Sanjay
✍️दो और दो पाँच✍️
"अशांत" शेखर
चाँद ने कहा
कुमार अविनाश केसर
लांगुरिया
Subhash Singhai
प्रेम
श्रीहर्ष आचार्य
" शिवोहम रिट्रीट "
Dr Meenu Poonia
प्रात का निर्मल पहर है
मनोज कर्ण
✍️मुतअस्सिर✍️
"अशांत" शेखर
खींच तान
Saraswati Bajpai
श्री राम
नवीन जोशी 'नवल'
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Dr. Alpa H. Amin
उड़ी पतंग
Buddha Prakash
बिल्ली हारी
Jatashankar Prajapati
💐मनुष्यशरीरस्य शक्ति: सुष्ठु नियोजनं💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️बुनियाद✍️
"अशांत" शेखर
✍️तुम पुकार लो..!✍️
"अशांत" शेखर
तुम...
Sapna K S
" अपनी ढपली अपना राग "
Dr Meenu Poonia
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
दया***
Prabhavari Jha
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
मुक्तक: युद्ध को विराम दो.!
Prabhudayal Raniwal
परिस्थिति
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...