Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jul 2023 · 1 min read

‘रामबाण’ : धार्मिक विकार से चालित मुहावरेदार शब्द / DR. MUSAFIR BAITHA

‘रामबाण’ धार्मिक विकार से चालित मुहावरेदार शब्द है।

दूसरी बात, बेईमानी भी है।

मिथक कथाओं के आधार से भी हिंदी में अक्सर जो शब्द एवं लोकोक्ति-मुहावरा बने हैं वे अक्सर सत्ता एवं शासन की बन्दगी में ही हैं, सबल प्रतिपक्ष को भी वहाँ प्रायः मान नहीं मिलता।

यहीं देखिये, ‘अचूक’ के लिए ‘रामबाण’ का प्रयोग होता है जबकि अंधविश्वास की लपेट क से ही बात कहनी हो तब भी ईमानदारी का तकाज़ा यह था कि अद्वितीय धनुर्धर एकलव्य की मिसाल दी जाती, ‘एकलव्यबाण’ कहकर।

571 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
काकाको यक्ष प्रश्न ( #नेपाली_भाषा)
काकाको यक्ष प्रश्न ( #नेपाली_भाषा)
NEWS AROUND (SAPTARI,PHAKIRA, NEPAL)
पछतावे की अग्नि
पछतावे की अग्नि
Neelam Sharma
माँ का प्यार
माँ का प्यार
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
कहने का मौका तो दिया था तुने मगर
कहने का मौका तो दिया था तुने मगर
Swami Ganganiya
' मौन इक सँवाद '
' मौन इक सँवाद '
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
भाईचारा
भाईचारा
Mukta Rashmi
जीवित रहने से भी बड़ा कार्य है मरने के बाद भी अपने कर्मो से
जीवित रहने से भी बड़ा कार्य है मरने के बाद भी अपने कर्मो से
Rj Anand Prajapati
ये कैसा घर है. . .
ये कैसा घर है. . .
sushil sarna
गांव में छुट्टियां
गांव में छुट्टियां
Manu Vashistha
सज जाऊं तेरे लबों पर
सज जाऊं तेरे लबों पर
Surinder blackpen
बिना बकरे वाली ईद आप सबको मुबारक़ हो।
बिना बकरे वाली ईद आप सबको मुबारक़ हो।
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
*जाड़े की भोर*
*जाड़े की भोर*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हर मसाइल का हल
हर मसाइल का हल
Dr fauzia Naseem shad
निःशुल्क
निःशुल्क
Dr. Kishan tandon kranti
लोग जाम पीना सीखते हैं
लोग जाम पीना सीखते हैं
Satish Srijan
पैसा आपकी हैसियत बदल सकता है
पैसा आपकी हैसियत बदल सकता है
शेखर सिंह
समल चित् -समान है/प्रीतिरूपी मालिकी/ हिंद प्रीति-गान बन
समल चित् -समान है/प्रीतिरूपी मालिकी/ हिंद प्रीति-गान बन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
नया दिन
नया दिन
Vandna Thakur
फारवर्डेड लव मैसेज
फारवर्डेड लव मैसेज
Dr. Pradeep Kumar Sharma
25- 🌸-तलाश 🌸
25- 🌸-तलाश 🌸
Mahima shukla
From dust to diamond.
From dust to diamond.
Manisha Manjari
महीना ख़त्म यानी अब मुझे तनख़्वाह मिलनी है
महीना ख़त्म यानी अब मुझे तनख़्वाह मिलनी है
Johnny Ahmed 'क़ैस'
2281.पूर्णिका
2281.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सुकून ए दिल का वह मंज़र नहीं होने देते। जिसकी ख्वाहिश है, मयस्सर नहीं होने देते।।
सुकून ए दिल का वह मंज़र नहीं होने देते। जिसकी ख्वाहिश है, मयस्सर नहीं होने देते।।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बरसात (विरह)
बरसात (विरह)
लक्ष्मी सिंह
*बारिश सी बूंदों सी है प्रेम कहानी*
*बारिश सी बूंदों सी है प्रेम कहानी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मुद्दत से तेरे शहर में आना नहीं हुआ
मुद्दत से तेरे शहर में आना नहीं हुआ
Shweta Soni
■ होशियार भून रहे हैं। बावले भुनभुना रहे हैं।😊
■ होशियार भून रहे हैं। बावले भुनभुना रहे हैं।😊
*Author प्रणय प्रभात*
बेदर्दी मौसम दर्द क्या जाने ?
बेदर्दी मौसम दर्द क्या जाने ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सदा दूर रहो गम की परछाइयों से,
सदा दूर रहो गम की परछाइयों से,
Ranjeet kumar patre
Loading...