Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Oct 2016 · 1 min read

राजयोग महागीता:: धर्म और अधर्म,सुख-दुख सब ही तो

घनाक्षरी:: अध्याय१ गुरुक्तानुभव::छंद – ६:: पोस्ट ११

धर्म और अधर्म, सुख – दुख सब ही तो ये
मानस की उपज हैं कदापि तू न कर्ता ।
तू देह से असंग यदि मान ले स्वयं को तो –
जान लेगा अपने को , कदापि है न भोक्ता ।
सर्वदा असंग है तू सर्वदा ही मुक्त है तो —
जान लेगा अपनी भी क्या है उपयोगिता ।
जब जान लेगा स्वयं को आत्मा परमतत्व ,
निज को पायेगा मुक्त , जान लेगा योग्यता ।।६/ अ १!!
—- जितेंद्र कमल आनंद

Language: Hindi
287 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं तो महज तकदीर हूँ
मैं तो महज तकदीर हूँ
VINOD CHAUHAN
*प्रेम कविताएं*
*प्रेम कविताएं*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
साड़ी हर नारी की शोभा
साड़ी हर नारी की शोभा
ओनिका सेतिया 'अनु '
कुपुत्र
कुपुत्र
Sanjay ' शून्य'
I hope one day the clouds will be gone, and the bright sun will rise.
I hope one day the clouds will be gone, and the bright sun will rise.
Manisha Manjari
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
Ravi Prakash
Temple of Raam
Temple of Raam
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
भारत की है शान तिरंगा
भारत की है शान तिरंगा
surenderpal vaidya
💐प्रेम कौतुक-419💐
💐प्रेम कौतुक-419💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पता नहीं कब लौटे कोई,
पता नहीं कब लौटे कोई,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
"तुम्हारी गली से होकर जब गुजरता हूं,
Aman Kumar Holy
दोहा-
दोहा-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
■ शुभ धन-तेरस।।
■ शुभ धन-तेरस।।
*Author प्रणय प्रभात*
तारीफ क्या करूं,तुम्हारे शबाब की
तारीफ क्या करूं,तुम्हारे शबाब की
Ram Krishan Rastogi
तभी तो असाधारण ये कहानी होगी...!!!!!
तभी तो असाधारण ये कहानी होगी...!!!!!
Jyoti Khari
*****खुद का परिचय *****
*****खुद का परिचय *****
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
बेवक़ूफ़
बेवक़ूफ़
Otteri Selvakumar
मेरे सपने बेहिसाब है।
मेरे सपने बेहिसाब है।
CA Amit Kumar
आंधियां* / PUSHPA KUMARI
आंधियां* / PUSHPA KUMARI
Dr MusafiR BaithA
मास्टरजी ज्ञानों का दाता
मास्टरजी ज्ञानों का दाता
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सच अति महत्वपूर्ण यह,
सच अति महत्वपूर्ण यह,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सौभाग्य मिले
सौभाग्य मिले
Pratibha Pandey
प्रेम में पड़े हुए प्रेमी जोड़े
प्रेम में पड़े हुए प्रेमी जोड़े
श्याम सिंह बिष्ट
अज्ञात है हम भी अज्ञात हो तुम भी...!
अज्ञात है हम भी अज्ञात हो तुम भी...!
Aarti sirsat
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Anu dubey
वट सावित्री
वट सावित्री
लक्ष्मी सिंह
23/174.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/174.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वो खूबसूरत है
वो खूबसूरत है
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
"मायने"
Dr. Kishan tandon kranti
विज्ञान का चमत्कार देखो,विज्ञान का चमत्कार देखो,
विज्ञान का चमत्कार देखो,विज्ञान का चमत्कार देखो,
पूर्वार्थ
Loading...