Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jun 2021 · 1 min read

रंग-बिरंगी तितली

रंग-बिरंगी तितली,
कितनी सुंदर दिखती हो,
इधर-उधर मँडराती हो,
बच्चों को बहलाती हो।

तितली रानी तितली रानी,
तेरी भी अजब कहानी,
फूलों को देख बैठ जाती,
फिर भी किसी के हाथ न आती।

जब भी तुम पंखों को फैलाती,
सुंदरता अत्यधिक खिल जाती,
काली पीली नीली सुनहरी,
हर रंगों में मिल ही जाती ।

जीवन होता कुछ दिनों का,
उसमें भी बच्चों को थकाती,
मन-मोहने बसंत में आती,
फूलों का रस हो चूसती।

✍🏼✍🏼
# बुद्ध प्रकाश ;
मौदहा,हमीरपुर।

3 Likes · 961 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
Ms.Ankit Halke jha
जहरीले धूप में (कविता )
जहरीले धूप में (कविता )
Ghanshyam Poddar
पत्थर
पत्थर
Shyam Sundar Subramanian
बेशक नहीं आता मुझे मागने का
बेशक नहीं आता मुझे मागने का
shabina. Naaz
शेरे-पंजाब
शेरे-पंजाब
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मदिरा वह धीमा जहर है जो केवल सेवन करने वाले को ही नहीं बल्कि
मदिरा वह धीमा जहर है जो केवल सेवन करने वाले को ही नहीं बल्कि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
प्यारा-प्यारा है यह पंछी
प्यारा-प्यारा है यह पंछी
Suryakant Dwivedi
गीता में लिखा है...
गीता में लिखा है...
Omparkash Choudhary
स्वस्थ्य मस्तिष्क में अच्छे विचारों की पूॅजी संकलित रहती है
स्वस्थ्य मस्तिष्क में अच्छे विचारों की पूॅजी संकलित रहती है
Tarun Singh Pawar
निराशा क्यों?
निराशा क्यों?
Sanjay ' शून्य'
एक मैं हूँ, जो प्रेम-वियोग में टूट चुका हूँ 💔
एक मैं हूँ, जो प्रेम-वियोग में टूट चुका हूँ 💔
The_dk_poetry
जीवन में प्राथमिकताओं का तय किया जाना बेहद ज़रूरी है,अन्यथा
जीवन में प्राथमिकताओं का तय किया जाना बेहद ज़रूरी है,अन्यथा
Shweta Soni
To improve your mood, exercise
To improve your mood, exercise
पूर्वार्थ
*चिंता चिता समान है*
*चिंता चिता समान है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मेरे बुद्ध महान !
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
खिलते फूल
खिलते फूल
Punam Pande
"मनभावन मधुमास"
Ekta chitrangini
■ आज का आभार
■ आज का आभार
*Author प्रणय प्रभात*
गुस्सा दिलाकर ,
गुस्सा दिलाकर ,
Umender kumar
भागो मत, दुनिया बदलो!
भागो मत, दुनिया बदलो!
Shekhar Chandra Mitra
वक्त के साथ सब कुछ बदल जाता है...
वक्त के साथ सब कुछ बदल जाता है...
Ram Babu Mandal
*
*"तुलसी मैया"*
Shashi kala vyas
"पाठशाला"
Dr. Kishan tandon kranti
मन खामोश है
मन खामोश है
Surinder blackpen
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
ज़माने में बहुत लोगों से बहुत नुकसान हुआ
ज़माने में बहुत लोगों से बहुत नुकसान हुआ
शिव प्रताप लोधी
Meditation
Meditation
Ravikesh Jha
*प्रबल सबसे बड़ा जीवन में, सब का भाग्य होता है 【 मुक्तक 】*
*प्रबल सबसे बड़ा जीवन में, सब का भाग्य होता है 【 मुक्तक 】*
Ravi Prakash
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
राम की आराधना
राम की आराधना
surenderpal vaidya
Loading...