Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2023 · 1 min read

ये साँसे जब तक मुसलसल चलती है

ये साँसे जब तक मुसलसल चलती है
इस जेहन की ख्वाइशें कहाँ ठहरती है

कब रुका है अरमानो का ये सिलसिला
जब जागो,आँखे नया ख़्वाब सजाती है

✍️© ‘अशांत’ शेखर
11/02/2023

1 Like · 223 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जुल्फें तुम्हारी फ़िर से सवारना चाहता हूँ
जुल्फें तुम्हारी फ़िर से सवारना चाहता हूँ
The_dk_poetry
हरि लापता है, ख़ुदा लापता है
हरि लापता है, ख़ुदा लापता है
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
नज़र नहीं नज़रिया बदलो
नज़र नहीं नज़रिया बदलो
Sonam Puneet Dubey
धार्मिकता और सांप्रदायिकता / MUSAFIR BAITHA
धार्मिकता और सांप्रदायिकता / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
"ज्वाला
भरत कुमार सोलंकी
पुरखों का घर - दीपक नीलपदम्
पुरखों का घर - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
3421⚘ *पूर्णिका* ⚘
3421⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
बिना अश्क रोने की होती नहीं खबर
बिना अश्क रोने की होती नहीं खबर
sushil sarna
स्मृति : पंडित प्रकाश चंद्र जी
स्मृति : पंडित प्रकाश चंद्र जी
Ravi Prakash
नशा और युवा
नशा और युवा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
सत्य तो सीधा है, सरल है
सत्य तो सीधा है, सरल है
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
कठिनाईयां देखते ही डर जाना और इससे उबरने के लिए कोई प्रयत्न
कठिनाईयां देखते ही डर जाना और इससे उबरने के लिए कोई प्रयत्न
Paras Nath Jha
हर दिन के सूर्योदय में
हर दिन के सूर्योदय में
Sangeeta Beniwal
झूठी हमदर्दियां
झूठी हमदर्दियां
Surinder blackpen
अपने-अपने चक्कर में,
अपने-अपने चक्कर में,
Dr. Man Mohan Krishna
"परोपकार"
Dr. Kishan tandon kranti
जब आपके आस पास सच बोलने वाले न बचे हों, तो समझिए आस पास जो भ
जब आपके आस पास सच बोलने वाले न बचे हों, तो समझिए आस पास जो भ
Sanjay ' शून्य'
❤️एक अबोध बालक ❤️
❤️एक अबोध बालक ❤️
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्रकृति
प्रकृति
Monika Verma
दुआओं में जिनको मांगा था।
दुआओं में जिनको मांगा था।
Taj Mohammad
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
एक नयी शुरुआत !!
एक नयी शुरुआत !!
Rachana
चढ़ा हूँ मैं गुमनाम, उन सीढ़ियों तक
चढ़ा हूँ मैं गुमनाम, उन सीढ़ियों तक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मोहब्बत का पैगाम
मोहब्बत का पैगाम
Ritu Asooja
अनुसंधान
अनुसंधान
AJAY AMITABH SUMAN
🙅बेशर्मी की हद नहीं🙅
🙅बेशर्मी की हद नहीं🙅
*प्रणय प्रभात*
फितरत
फितरत
Akshay patel
कल की फिक्र में
कल की फिक्र में
shabina. Naaz
चार यार
चार यार
Bodhisatva kastooriya
बड़ी कथाएँ ( लघुकथा संग्रह) समीक्षा
बड़ी कथाएँ ( लघुकथा संग्रह) समीक्षा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...