Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jul 2016 · 2 min read

यूँ ही कभी कभी

१.
दिले-ऐ-नादान को सुकून की तलाश है
जो बंद है तेरे चन्द अल्फाजों के भीतर |

२.
दीदार-ऐ-यार को तरस रही थी आँखें
तेरी तस्वीर देख के कुछ सुकून आया |

३.
हर सांस के साथ एक आह सी निकलती है
तेरे चेहरे पे जब मायूसी का आलम होता है |

४.
फ़रिश्ते मंडरा रहे थे मेरी जाँ ले जाने को
आब-ऐ-हयात बनकर तेरी दुआ आ गयी |

५.
तेरी एक अदद मुस्कराहट का तलबगार है ये दिल
कानों को तेरी बढ़ी हुई धडकनों ने बेचैन किया है |

६.
तुझसे दूरी का सोचना भी दिल को तकलीफ देता है
तुम हो की बात बात पर दूर जाने की बात करते हो |

७.
तुमने जो जज़्बात छुपाये हैं मुखौटे के पीछे
बता दो तुम्हारी इस बेरुखी की वजह क्या है |

८.
तुझे क्या मालूम कितना कितना डरते हैं तुझे खोने से
हर सांस पे जान निकलती है तुझे खोने के एहसास से |

९.
तुम जा तो रहे हो मुझसे मुंह फेरकर
क्या हो अगर हम फिर दिखे ही नहीं |

१०.
हालातों के हाथों मजबूर खिलौना हूँ मैं
वर्ना छीन लिया होता तुझे जहां वालों से |

११.
तुझे खबर है अपनी जान का दुश्मन नहीं हो सकता मैं
मेरी जान अमानत है तेरी जो मेरे पास महफूज रखी है |

१२.
मुहूर्त निकला है घर जा के बयाँ करेंगे दिल के जज़्बात
क्या हो ग़र खुदा ने मुझे मोहलत ही न दी तेरे जाने तक |

१३.
मेरे खुदा मुझे मोहलत बख्श देना चन्द लम्हातों की
मैं निगहबान हूँ मेरी जान अमानत है किसी और की |

“सन्दीप कुमार”

मेरा ब्लॉग : https://sandeip01.blogspot.in/2016/06/blog-post_14.html?spref=fb

Language: Hindi
Tag: शेर
502 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उनको असफलता अधिक हाथ लगती है जो सफलता प्राप्त करने के लिए सह
उनको असफलता अधिक हाथ लगती है जो सफलता प्राप्त करने के लिए सह
Rj Anand Prajapati
बिहार छात्र
बिहार छात्र
Utkarsh Dubey “Kokil”
विषय मेरा आदर्श शिक्षक
विषय मेरा आदर्श शिक्षक
कार्तिक नितिन शर्मा
रखते हैं प्रभु ही सदा,जग में  सबका  ध्यान।
रखते हैं प्रभु ही सदा,जग में सबका ध्यान।
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हे राघव अभिनन्दन है
हे राघव अभिनन्दन है
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
यह ज़िंदगी है आपकी
यह ज़िंदगी है आपकी
Dr fauzia Naseem shad
छाई रे घटा घनघोर,सखी री पावस में चहुंओर
छाई रे घटा घनघोर,सखी री पावस में चहुंओर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
महादेव ने समुद्र मंथन में निकले विष
महादेव ने समुद्र मंथन में निकले विष
Dr.Rashmi Mishra
कुदरत
कुदरत
Neeraj Agarwal
"मन मेँ थोड़ा, गाँव लिए चल"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
तमाम आरजूओं के बीच बस एक तुम्हारी तमन्ना,
तमाम आरजूओं के बीच बस एक तुम्हारी तमन्ना,
Shalini Mishra Tiwari
*गुरुग्राम में चयनित-स्थल विवाह (डेस्टिनेशन वेडिंग) 2,3,4 फर
*गुरुग्राम में चयनित-स्थल विवाह (डेस्टिनेशन वेडिंग) 2,3,4 फर
Ravi Prakash
फितरत
फितरत
Kanchan Khanna
■ आज का दोहा
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
कवनो गाड़ी तरे ई चले जिंदगी
कवनो गाड़ी तरे ई चले जिंदगी
आकाश महेशपुरी
प्रवासी चाँद
प्रवासी चाँद
Ramswaroop Dinkar
अनुसंधान
अनुसंधान
AJAY AMITABH SUMAN
"BETTER COMPANY"
DrLakshman Jha Parimal
सीने में जलन
सीने में जलन
Surinder blackpen
गर जानना चाहते हो
गर जानना चाहते हो
SATPAL CHAUHAN
मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ़ हो जाती है,
मेरे दिल से उसकी हर गलती माफ़ हो जाती है,
Vishal babu (vishu)
"एक हकीकत"
Dr. Kishan tandon kranti
आदमी के हालात कहां किसी के बस में होते हैं ।
आदमी के हालात कहां किसी के बस में होते हैं ।
sushil sarna
या ख़ुदा पाँव में बे-शक मुझे छाले देना
या ख़ुदा पाँव में बे-शक मुझे छाले देना
Anis Shah
सच्चे रिश्ते वही होते है जहा  साथ खड़े रहने का
सच्चे रिश्ते वही होते है जहा साथ खड़े रहने का
पूर्वार्थ
इस धरती पर
इस धरती पर
surenderpal vaidya
जज़्बा क़ायम जिंदगी में
जज़्बा क़ायम जिंदगी में
Satish Srijan
💐प्रेम कौतुक-291💐
💐प्रेम कौतुक-291💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खुदीराम बोस की शहादत का अपमान
खुदीराम बोस की शहादत का अपमान
कवि रमेशराज
जिंदगी का सफर बिन तुम्हारे कैसे कटे
जिंदगी का सफर बिन तुम्हारे कैसे कटे
VINOD CHAUHAN
Loading...