Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Sep 2022 · 1 min read

यारो जब भी वो बोलेंगे

यारो जब भी वो बोलेंगे
ज़हर हवाओं में घोलेंगे

देंगे न कभी साथ तुम्हारा
वो ग़ैरों के संग हो लेंगे

दोस्त भले ही ख़ामोश रहें
दुश्मन राज़ सदा खोलेंगे

पैंसा तेरे पास अगर है
रिश्तेदार निकट डोलेंगे

दुष्कर्मों की दुहाई देके
सतकर्मों को सब तोलेंगे

•••

3 Likes · 215 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
इंसान हो या फिर पतंग
इंसान हो या फिर पतंग
शेखर सिंह
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मुश्किलों में उम्मीद यूँ मुस्कराती है
मुश्किलों में उम्मीद यूँ मुस्कराती है
VINOD CHAUHAN
जीवन दर्शन
जीवन दर्शन
Prakash Chandra
कुछ कहमुकरियाँ....
कुछ कहमुकरियाँ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
23/01.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/01.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मनुष्यता कोमा में
मनुष्यता कोमा में
Dr. Pradeep Kumar Sharma
महाप्रयाण
महाप्रयाण
Shyam Sundar Subramanian
🙅नया मुहावरा🙅
🙅नया मुहावरा🙅
*Author प्रणय प्रभात*
स्वर्ग से सुंदर मेरा भारत
स्वर्ग से सुंदर मेरा भारत
Mukesh Kumar Sonkar
सुविचार..
सुविचार..
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जन्मदिन पर लिखे अशआर
जन्मदिन पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
जख्म भरता है इसी बहाने से
जख्म भरता है इसी बहाने से
Anil Mishra Prahari
अम्बे भवानी
अम्बे भवानी
Mamta Rani
संकल्प का अभाव
संकल्प का अभाव
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
किस क़दर आसान था
किस क़दर आसान था
हिमांशु Kulshrestha
*** सैर आसमान की....! ***
*** सैर आसमान की....! ***
VEDANTA PATEL
नफ़रत सहना भी आसान हैं.....⁠♡
नफ़रत सहना भी आसान हैं.....⁠♡
ओसमणी साहू 'ओश'
मन जो कि सूक्ष्म है। वह आसक्ति, द्वेष, इच्छा एवं काम-क्रोध ज
मन जो कि सूक्ष्म है। वह आसक्ति, द्वेष, इच्छा एवं काम-क्रोध ज
पूर्वार्थ
एक फूल....
एक फूल....
Awadhesh Kumar Singh
हर नदी अपनी राह खुद ब खुद बनाती है ।
हर नदी अपनी राह खुद ब खुद बनाती है ।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
When I was a child.........
When I was a child.........
Natasha Stephen
राम नाम सर्वश्रेष्ठ है,
राम नाम सर्वश्रेष्ठ है,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
धनतेरस और रात दिवाली🙏🎆🎇
धनतेरस और रात दिवाली🙏🎆🎇
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सृष्टि रचेता
सृष्टि रचेता
RAKESH RAKESH
अब किसी से कोई शिकायत नही रही
अब किसी से कोई शिकायत नही रही
ruby kumari
मित्रता तुम्हारी हमें ,
मित्रता तुम्हारी हमें ,
Yogendra Chaturwedi
की तरह
की तरह
Neelam Sharma
"औकात"
Dr. Kishan tandon kranti
हे राम,,,,,,,,,सहारा तेरा है।
हे राम,,,,,,,,,सहारा तेरा है।
Sunita Gupta
Loading...