Sep 9, 2016 · 1 min read

यादें

जैसे कोई बुझता हुआ दीपक ,
तेज रोशनी से अँधेरे को रोशन कर जाए ।
यादों से आज भी कुछ गुलशन महके हुए लगते है ।

मस्ती कहाँ थी जाम को पीने की ,
वो तो मजबूरी थी यादों को भुलाने की
पीने दे ऐ साकी फिर से तेरी नजरों से
आज भी कशिश है बाकी उनकी यादों की ।।

कभी सोचा था वीराने भी किसी सजा से कम नहीं ,
आज जाने क्यों वो खंडहर भी अपने जैसे लगते हैं ।

220 Views
You may also like:
【29】!!*!! करवाचौथ !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जिंदगी की कुछ सच्ची तस्वीरें
Ram Krishan Rastogi
संघर्ष
Rakesh Pathak Kathara
ऐ वतन!
Anamika Singh
🍀🌸🍀🌸आराधों नित सांय प्रात, मेरे सुतदेवकी🍀🌸🍀🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नेताओं के घर भी बुलडोजर चल जाए
Dr. Kishan Karigar
नारियल
Buddha Prakash
नींबू के मन की वेदना
Ram Krishan Rastogi
नीम का छाँव लेकर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बस करो अब मत तड़फाओ ना
Krishan Singh
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
सच का सामना
Shyam Sundar Subramanian
The Buddha And His Path
Buddha Prakash
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH 9A
भाग्य लिपि
ओनिका सेतिया 'अनु '
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
सीख
Pakhi Jain
💐💐प्रेम की राह पर-16💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
साल गिरह
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
💐प्रेम की राह पर-53💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
💐💐प्रेम की राह पर-12💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
लड़कियों का घर
Surabhi bharati
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
कौन था वो ?...
मनोज कर्ण
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...