Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2023 · 1 min read

यह तेरा चेहरा हसीन

यह तेरा चेहरा हसीन, बनेगा तुम्हारी मुसीबत।
बचा नहीं सकोगे तुम सच, यह अपनी इज्जत।।
यह तेरा चेहरा हसीन—————-।।

देखा है मैंने भी तुझमें, तुम्हारी चाहत क्या है।
कौन है साथी तुम्हारा, तुम्हारी मोहब्बत क्या है।।
यह तुम्हारी जुल्फें घनेरी, बनेगी तुम्हारी शामत।
यह तेरा चेहरा हसीन—————-।।

तुमको करेगा बदनाम एक दिन, यह शौक तुम्हारा।
तुमको करेगा बर्बाद एक दिन,लिबास यह तुम्हारा।।
बेपर्दा होकर रहना तुम्हारा, करेगा तुम्हारी फजीहत।
यह तेरा चेहरा हसीन—————-।।

बाजार दुनिया में लगता है, बताओ तुम्हें क्या चाहिए।
तुमको क्या मतलब इज्जत से, दौलत तुमको चाहिए।।
तुम्हारी यह बेफिक्री एक दिन, लायेगी सच में कयामत।
यह तेरा चेहरा हसीन——————-।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
225 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक अकेला
एक अकेला
Punam Pande
जब भी दिल का
जब भी दिल का
Neelam Sharma
*माला फूलों की मधुर, फूलों का श्रंगार (कुंडलिया)*
*माला फूलों की मधुर, फूलों का श्रंगार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है"
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
मूर्ख बनाने की ओर ।
मूर्ख बनाने की ओर ।
Buddha Prakash
2908.*पूर्णिका*
2908.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"पूछो जरा"
Dr. Kishan tandon kranti
चलो दो हाथ एक कर ले
चलो दो हाथ एक कर ले
Sûrëkhâ
शहर कितना भी तरक्की कर ले लेकिन संस्कृति व सभ्यता के मामले म
शहर कितना भी तरक्की कर ले लेकिन संस्कृति व सभ्यता के मामले म
Anand Kumar
"आत्मकथा"
Rajesh vyas
रामलला
रामलला
Saraswati Bajpai
किस-किस को समझाओगे
किस-किस को समझाओगे
शिव प्रताप लोधी
हक़ीक़त
हक़ीक़त
Shyam Sundar Subramanian
"𝗜 𝗵𝗮𝘃𝗲 𝗻𝗼 𝘁𝗶𝗺𝗲 𝗳𝗼𝗿 𝗹𝗼𝘃𝗲."
पूर्वार्थ
ढूॅ॑ढा बहुत हमने तो पर भगवान खो गए
ढूॅ॑ढा बहुत हमने तो पर भगवान खो गए
VINOD CHAUHAN
बड़ी मादक होती है ब्रज की होली
बड़ी मादक होती है ब्रज की होली
कवि रमेशराज
आप में आपका
आप में आपका
Dr fauzia Naseem shad
मजहब
मजहब
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आक्रोश प्रेम का
आक्रोश प्रेम का
भरत कुमार सोलंकी
मदिरा वह धीमा जहर है जो केवल सेवन करने वाले को ही नहीं बल्कि
मदिरा वह धीमा जहर है जो केवल सेवन करने वाले को ही नहीं बल्कि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
बेसहारों को देख मस्ती में
बेसहारों को देख मस्ती में
Neeraj Mishra " नीर "
हर दिन रोज नया प्रयास करने से जीवन में नया अंदाज परिणाम लाता
हर दिन रोज नया प्रयास करने से जीवन में नया अंदाज परिणाम लाता
Shashi kala vyas
तारीफ तेरी, और क्या करें हम
तारीफ तेरी, और क्या करें हम
gurudeenverma198
झूठ भी कितना अजीब है,
झूठ भी कितना अजीब है,
नेताम आर सी
#drarunkumarshastri♥️❤️
#drarunkumarshastri♥️❤️
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हम भी कहीं न कहीं यूं तन्हा मिले तुझे
हम भी कहीं न कहीं यूं तन्हा मिले तुझे
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
कमीजें
कमीजें
Madhavi Srivastava
तेरी यादों ने इस ओर आना छोड़ दिया है
तेरी यादों ने इस ओर आना छोड़ दिया है
Bhupendra Rawat
क्यूं हँसते है लोग दूसरे को असफल देखकर
क्यूं हँसते है लोग दूसरे को असफल देखकर
Praveen Sain
तुम से सिर्फ इतनी- सी इंतजा है कि -
तुम से सिर्फ इतनी- सी इंतजा है कि -
लक्ष्मी सिंह
Loading...